''मेरे पास कोई नहीं बचा, मेरी चिता को आग कौन देगा'': इकलौते बेटे को खोने के बाद सुशांत के पिता की SC में भावुक अपील

8/12/2020 12:21:10 PM

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत केस में 11 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने  रिया चक्रवर्ती की बिहार में दर्ज FIR को मुंबई ट्रान्सफर करने की याचिका पर अपने फैसले को सुरक्षित रखा है। इसके साथ ही कोर्ट ने सभी पक्षों को गुरुवार तक लिखित जवाब देने का आदेश दिया।  सुप्रीम कोर्ट में सुशांत के पारिवारिक वकील विकास सिंह ने कहा कि रिया पहले केवल सुशांत को उनकी बहनों से अलग कर पाई थी।

PunjabKesari

फिर सुशांत और उनके पिता केके सिंह पिछले साल मई में साथ में अपने होमटाउन गए थे। उस ट्रिप के बाद, सुशांत के पिता भी उनसे अलग हो गए। उनके पिता ने कई बार अपने बेटे से बात करने की कोशिश की उन्होंने कई बार रिया से बेटे के साथ बात करवाने की भी मिन्नतें की लेकिन एक्ट्रेस ने कोई जवाब नहीं दिया। अब उनके पास अपने अंतिम संस्कार में चिता को मुखाग्नि देने के लिए कोई नहीं है।  उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में सुशांत के पिता के हवाले से कहा- "हर कोई जानता है कि बिहार में बेटा ही अपने पिता की चिता को आग देता है। अब मेरी चिता को आग कौन देगा? मेरे पास कोई नहीं बचा है।"
 

PunjabKesari

"बहन ने उन्हें लटके हुए नहीं देखा"

वकील ने कहा-"जब सुशांत के कमरे का दरवाजा खुला, तब उनकी बहन 10 मिनट की दूरी पर थी। उन्होंने ना उन्हें कॉल किया न उनका इंतजार। उन्हें बुलाने से पहले ही सुशांत को उतार दिया गया। उनकी बहन ने केवल उनके शव को बेड पर पड़े देखा। उनकी बहन ने उन्हें लटके हुए नहीं देखा। मामले में हर दिन सबूत नष्ट हो रहे हैं।"

PunjabKesari

असली आरोपी को बचा रही है मुंबई पुलिस 

विकास सिंह ने यह भी कहा कि मुंबई पुलिस मामले के असली आरोपियों को नहीं पकड़ रही है और उनकी जांच 'पूरी तरह से अलग दिशा' में जा रही है। 

PunjabKesari

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को अपने बांद्रा स्थित घर में मृत पाए गए थे। पहले इसे सुसाइड का मामला बताया जा रहा था, लेकिन परिवार को इसमें हत्या की आशंका है। मुंबई पुलिस पहले से मामले की जांच कर रही थी, हालांकि सुशांत के पिता द्वारा पटना में शिकायत दर्ज कराने के बाद बिहार पुलिस ने भी अपनी जांच शुरू कर दी। वहीं बिहार सरकार की गुजारिश के बाद इस मामले को CBI को सौंप दिया गया है। 


Smita Sharma


Related News