विवेक अग्निहोत्री ने ‘कुछ कुछ होता है’, ‘दिल चाहता है’ जैसी फिल्मों को बताया बॉलीवुड की बर्बादी का कारण, कहा-2000 के बाद फिल्में...

9/29/2022 1:18:28 PM

बॉलीवुड तड़का टीम.  ‘द कश्मीर फाइल्स’ के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री अक्सर अपने विवादित बयानों के चलते सुर्खियों में रहते हैं। वह बिना किसी की परवाह किए हर मुद्दे पर खुलकर अपनी राय रखते हैं। हाल ही में उन्होंने बॉलीवुड के बायकॉट पर अपने विचार रखे और शाहरुख खान जैसे स्टार्स और ‘कुछ कुछ होता है’, ‘दिल चाहता है’, और ‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ जैसी फिल्मों को सिनेमा की परिभाषा को बदलने के लिए जिम्मेदार बताया।


बॉलीवुड के पतन पर बात करते हुए विवेक अग्निहोत्री ने कहा, 2000 के बाद की फिल्में बदल गई हैं और उन्होंने अपनी फिल्मों में वास्तविक भारत को उजागर करना बंद कर दिया है। उन्होंने कहा कि पहले ऐसी फिल्में हुआ करती थीं जिनमें एक्टर कई सामाजिक बुराइयों के खिलाफ लड़ रहा होता है, जैसे जमींदार, भ्रष्ट पुलिस अधिकारी या लालची मिल मालिक।


उन्होंने आगे कहा कि धीरे-धीरे, फिल्म निर्माताओं और एक्टर्स ने सिनेमा में बदलाव लाना शुरू कर दिया है और यह वास्तव में सिनेमा के खिलाफ है।  दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे तक शाहरुख खान जाते हैं और कहते हैं कि मैं ट्रेडिशनल शादी करूंगा। फिर ‘कुछ कुछ होता है’ के बाद चीजें बदलने लगीं।’

डायरेक्टर ने आगे कहा, ‘बॉलीवुड संभालने वाले इन युवा लड़कों को विश्वास होने लगा कि वे बदल सकते हैं। चूंकि वे हिंदी नहीं जानते, इसलिए उन्होंने हिंग्लिश का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।’ उन्होंने आगे कहा, ‘दिल चाहता है की सफलता के साथ... या जो कुछ भी उन्होंने सोचा 'यह भारत है। फिर जिंदगी ना मिलेगी दोबारा आई और लोगों को लगा कि 'यह भारत है,' लेकिन यह भारत नहीं है। धीरे-धीरे लोग बॉलीवुड से कटने लगे।’


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

suman prajapati


Related News

Recommended News