चमोली आपदा:पिता को खोने वाली 4 बच्चियों को सोनू सूद ने लिया गोद,बोले, ''यह परिवार अब हमारा''

2/20/2021 9:38:02 AM

मुंबई: उत्तराखंड एक बार फिर आपदा से कराह रहा है। चमोली के रैणी गांव में आई आपदा ने चंद पलों के अंदर सैकड़ों लोगों की जिंदगी लीला खत्म कर दी। आए दिन यहां से सड़े-गले शव मिल रहे हैं, जिनकी पहचान तक नहीं हो पा रही। इस आपदा में कई घरों के इकलौते चिराग बुझा दिए, परिवार का कमाऊ सदस्य छीन लिया। दुख की इस घड़ी में सरकार-प्रशासन इनकी मदद के लिए हर जरूरी प्रयास कर रहे हैं।

PunjabKesari

वहीं कोरोना वायरस महामारी के दौर में सच्चे मददगार बनकर उभरे एक्टर सोनू सूद भी आपदा प्रभावितों की मदद के लिए आगे आए हैं।सोनू सूद ने चमोली में आई आपदा में एक पीड़ित परिवार की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया। उन्होंने आपदा में पिता को खोने वाली 4 बच्चियों को गोद लेने का ऐलान किया। सोनू सूद तपोवन आपदा से पीड़ित परिवार का सहारा बने हैं। उन्होंने टिहरी जिले की दोगी पट्टी के एक पीड़ित परिवार की चार बेटियों को गोद लिया। चमोली आपदा में मारे गए आलम सिंह की चारों बेटियों की परवरिश की जिम्मेदारी ली।

PunjabKesari

दरअसल,बच्चियों के पिता मृतक आलम सिंह विष्णुगाड जल विद्युत परियोजना से जुड़ी ऋत्विक कंपनी में इलेक्ट्रीशियन के पद पर कार्यरत थे। आपदा के समय आलम टनल के अंदर काम कर रहे थे और उसके बाद नहीं लौटे। आठ दिन बाद उनके परिवार को उनका शव मलबे के नीचे दबा मिला।

PunjabKesari

आलम सिंह अपने घर में कमाई करने वाले इकलौते शख्स थे।ऐसे में आलम की पत्नी के कंधों पर अपनी और चार मासूम बच्चियों की जिम्मेदारी उठाने का बोझ आ गया है। यह बात जब सोनू सूद को पता चली तो उन्होंने पीड़ित परिवार की मदद करने का बीड़ा उठाया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- 'यह परिवार अब हमारा है

PunjabKesari

बता दें कि सोनू सूद ने कोरोना महामारी की शुरुआत में ही गरीब परिवारों की मदद की थी। उन्होंने अपने खर्चे पर कई प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाया था। लाॅकडाउन के बाद भी वह लोगों की मदद कर रहे हैं। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Related News

Recommended News