Roohi Review: फिल्म रूही की आत्मा है राज कुमार राव और वरुण शर्मा,फनी है मूवी का डरावना पहलू

3/12/2021 8:31:42 AM

मुंबई: एक साल से थियेटर दर्शकों को तरस रहे हैं लेकिन अब ये इंतजार खत्म हो गया है। मार्च महीने से थिएटर्स फुल ऑक्यूपेंसी के साथ खुल गए हैं। लाॅकडाउन के बाद थिटेयर्स में पहली बड़ी फिल्म भी रिलीज हो गई है। यह फिल्म है राज कुमार राव,जाह्नवी कपूर और  वरुण शर्मा हॉरर-कॉमेडी फिल्म 'रूही'। 

PunjabKesari

 

स्टारकास्टट-जान्हवी कपूर, राजकुमार राव, वरुण शर्मा
 

निर्देशक-हार्दिक मेहता
 

निर्माता-दिनेश विजन, मृगदीप सिंह लाम्बा

PunjabKesari


कहानी 
 

'रूही' की कहानी बांगरपुर नाम के छोटे शहर से शुरू होती है। भौरा पांडे ( राज कुमार राव ) और कटन्नी  ( वरुण शर्मा ) वहां लोकल रिपोर्टर हैं। रिपोर्टिंग के साथ दोनों शादी के लिए लड़की उठाने का काम भी करते हैं। उनके शहर मे पकड़ाई विवाह की प्रथा है और वहां लोकल लोग इसे अपराध नहीं मानते। इसी बीच उनका बॉस उन्हें शादी के लिए रूही यानि  जाह्ववी कपूर   नाम की लड़की को किडनैप करने को कहता है। भौरा और कटन्नी लड़की को उठा लेते हैं लेकिन दूल्हे के फूफा का निधन हो जाता है और शादी टल जाती है। ऐसे में किडनैप हुई रूही को एक जंगल के बीच बने वीरान घर में छिपाया जाता है। यहीं शुरू होता है चुड़ैल का खेल। रूही के शरीर पर एक मुरिया पैरी नाम की चुड़ैल का कब्जा हो जाता है।

PunjabKesari

भौरा जब रूही को खाना देने जाता तो उसका सामना चुड़ैल से होता है। इसी दौरान कई बार वो भोली भाली रूही से भी बातें करता है। ऐसी ही भौरा को रूही से प्यार हो जाता है लेकिन चुड़ैल का साया होने की वजह से वह डरता है। धीरे धीरे जंगल में प्यार का मंगल शुरू होता है। दोनों दोस्त रूही और आफ्जा के लिए मारपीट तक कर लेतें हैं। कटन्नी चाहता है कि आफ्जा रूही के साथ रहे जबकि भौरा आफ्जा को रूही से अलग करना चाहता है।

PunjabKesari

भौरा रूही को चु़ड़ैल से मुक्ति दिलाने के लिएकई तरह के उपाय शुरू करता है। इसके लिए एक कुतिया तक से शादी कर लेता है ? उसे लेकर भूत छुड़ाने वाले एक शहर में भी जाता है।  क्या होता है कटन्नी और चुड़ैल अफजा की मोहब्बत का ? क्या भौरा रूही से शादी कर पाता है ? ये सब जानने के लिए आपको फिल्म देखने पड़ेगी। 

PunjabKesari

डरावना पहलू फनी

हॉरर-कॉमेडी जॉनर की इस फिल्म का विषय बेहतरीन है। लेकिन इसमें इसका डरावना पहलू फनी नजर आता है। इंटरवल तक फिल्म की कहानी बेहद स्लो है। हालांकि, इसके बाद यह कुछ रफ्तार पकड़ती है। लेकिन कहानी का कमजोर पक्ष इसका डरावना पहलू है, जो डराने में असफल रहता है। राज कुमार राव और प्रोड्यूसर दिनेश विजन दोनों फिल्मों में कॉमन फैक्टर हैं लेकिन रूही स्त्री जैसी  शानदार नहीं हैं।  

PunjabKesari

 

रूही की आत्मा है राज कुमार राव और वरुण शर्मा

एक्टिंग की बात करें पूरी फिल्म में राजकुमार 'त' को 'ट' बोलने के लहजे और हाव-भाव को पकड़कर चलते हैं। वरुण शर्मा अपने फनी अंदाज से हंसाने में कामयाब दिखते हैं। वहीं अगर जान्हवी कपूर की बात करें तो रूही और आफ्जा के दोहरे किरदार में उनका ट्रांसफॉर्मेशन बेहतरीन रहा। कम डायलॉग होने के चलते टाइटल रोल में होने के बावजूद लवह उतना असर नहीं दिखा सकी।तीनों की तुलना करें तो एक्टिंग के मामले में वरुण और राजकुमार बाजी मारते नजर आते हैं। राजकुमार और वरुण अपनी पंच लाइन से हंसाने की कोशिश में काफी हद तक सफल होते हैं। फिल्म में जान्हवी का डांस अच्छा है, जिस पर दर्शक नजरें टिकाए रखते हैं।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Recommended News

static