Movie Review: तापसी की एक्टिंग ने की सबकी 'गेम ओवर'

6/14/2019 6:10:23 PM

मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू की फिल्म 'गेम ओवर' आज रिलीज हो गई है। अमुथा नाम की एक लड़की अपने घर में अकेली रहती हैं। कोई उसे देखता रहता है। इसके बाद एक शख्स उसके घर में घुसता है, प्लास्टिक कवर को इस महिला के चेहरे पर बांध देता है और ये महिला एक त्रासदी भरी मौत मर जाती है। तापसी पन्नू स्टारर साइकोलॉजिकल थ्रिलर फिल्म गेम ओवर का ये पहला सीन इस बात की बानगी है कि ये फिल्म शुरूआत से ही दर्शकों के अटेंशन पर कब्जा करने की कोशिश करती है और अंत तक ऐसा करने में कामयाब होती है।

 

PunjabKesari


कहानी  

स्वप्ना (तापसी पन्नू) एक वीडियो गेम डिजाइनर हैं, जिनका एक बेहद त्रासदी भरा पास्ट रहा है। वे इससे इतनी ज्यादा प्रभावित हैं कि जब भी वे किसी अंधेरे कमरे में जाती हैं तो उन्हें पैनिक अटैक आने लगते हैं। इस दौरान उनके साथ एक घटना घट जाती है, जिसके बाद स्वप्ना को अमुथा और अपनी जिंदगी से जुड़ा  एक कड़वा सच जानने को मिलता है।

 

PunjabKesari


डायरेक्शन

डायरेक्टर अश्विन सारावनन और राइटर काव्या ने गेम ओवर को एक वीडियो गेम की तरह ट्रीट किया है। गेम ओवर एक मल्टीलेयर फिल्म है, जिसमें कई महत्वपूर्ण मुद्दों को छूने की कोशिश की गई है। इस फिल्म का स्क्रीनप्ले अश्विन और काव्या ने लिखा है और फिल्म की स्क्रिप्ट ही फिल्म की असली हीरो है। इस फिल्म में वीडियो गेम की थीम का भरपूर इस्तेमाल किया गया है। अश्विन ने इस फिल्म के सहारे मेंटल ट्रॉमा जैसे संवेदनशील मुद्दे को भी छूने की कोशिश की है। उन्होंने इस तरह की मेडिकल कंडीशन्स वाले लोगों के लिए एक सकारात्मक नजरिया भी पेश किया है। फिल्म के कई हिस्सों में पैरानॉर्मल और हॉरर एलिमेंट्स भी हैं, जिसके चलते ये फिल्म एक मुफीद साइकोलॉजिकल थ्रिलर फिल्म साबित होती है। 

 

PunjabKesari

 

एक्टिंग


तापसी और विनोदिनी की एक्टिंग बेहतरीन है और फिल्म अंत तक लोगों को बांधे रखने की क्षमता रखती है। खास बात ये है कि इस फिल्म के लिए तापसी ने डबिंग का इस्तेमाल किया है लेकिन अपनी शानदार एक्टिंग से वे इसका एहसास नहीं होने देती हैं। डबिंग आर्टिस्ट दीपा वेंकट ने इस मामले में बेहतरीन काम किया है। विनोदिनी वदियानाथन ने काला अम्मा के रूप में हाउस हेल्पर की भूमिका निभाई है लेकिन उनका किरदार यही तक सीमित नहीं है। डिप्रेशन से जूझ रही स्वप्ना के लिए वे मोरल सपोर्ट साबित होती हैं। अपनी नैचुरल एक्टिंग के चलते वे इस फिल्म में प्रभावित करती हैं। विनोथ के कैमरावर्क, बैकग्राउंड म्यूजिक और साउंड डिज़ाइन ऐसा है, जिसके चलते फिल्म एक अलग स्तर पर पहुंच जाती है।


Konika