Movie Review: बेटी के सपने को पूरा करने में पिता के संघर्ष की कहानी है ''अंग्रेजी मीडियम''

3/13/2020 10:52:58 AM

बॉलीवुड तड़का टीम. फैंस की मोस्ट अवेटड फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' 13 मार्च को पर्दे पर रिलीज हो चुकी है। फिल्म की शूटिंग उस समय की गई थी, जब इरफान कैंसर से उबर रहे थे और अच्छी सेहत पाने के लिए जंग लड़ रहे थे। इसलिए भी फैंस अंग्रेजी मीडियम को पर्दे पर देखने को लिए उतावले हो रहे थे। होमी अदजानिया के डायरेक्शन में बनीं ये फिल्म पहले ही दिन बॉक्स-आफिस पर कमाल दिखा रही है, अगर आप भी फिल्म देखने की तैयारी बना रहे हैं तो जाने फिल्म का रिव्यू...
कहानी

PunjabKesari
फिल्म बाप-बेटी के रिश्ते और बेटी के विदेश जाने की कहानी पर आधारित है। फिल्म में चंपक बंसल (इरफान खान) एक खानदानी हलवाई हैं, जो अपने पड़दादा  घसीटाराम के नाम पर मिठाई की दुकान चलाता है। उनकी बेटी तारिका (राधिका मदान) का सपना विदेश जाकर पढ़ने का है और वो हमेशा विदेशा जाने के ही ख्वाब देखती है। जब किसी वजह से चंपक की बेटी का विदेश जाने का सपना पूरा नहीं हो पाने की कागार पर होता, तो इसके लिए इरफान और दीपक डोबरियाल जमीन-आसमान एक करने पर उतर आते हैं। आखिरकार वह दिन भी आ जाता है, जब तारिका को आगे की पढ़ाई के लिए लंदन जाने का मौका मिल जाता है। अपनी बेटी का पजेसिव पिता चंपक तारिका के ख्वाबों को हकीकत का जामा पहनाने के लिए उसके साथ चल पड़ता है, लेकिन लंदन पहुंचने के बाद हालात कुछ हो जाते हैं, जिसके बारे में चंपक और उसके भाई ने सोचा भी नहीं होता। अब फिल्म में आगे क्या मोड़ आता है ये तो आपको थिएटर जाकर ही पता करना होगा।
एक्टिंग

PunjabKesari
फिल्म की एक्टिंग की बात की जाए तो इरफान की एक्टिंग कमाल की है। इरफान बेटी के पजेसिव पिता होने के किरदार में खरे उतरे हैं और हर रोल को उन्होने बहुत अच्छे से निभाया है।  दीपक डोबरियाल ने इरफान खान के भाई का किरदार भी बखूबी निभाया है। दोनों एक साथ स्क्रीन पर लोगों का दिल जीतने में कामयाब होते है। एक्ट्रेस राधिका मदान की एक्टिंग भी सराहनीय है। इसके इलावा क्रैरेक्टर्स पंकज त्रिपाठी, कीकू शारदा और करीना कपूर की एक्टिंग भी काबिल-ए-तारीफ है।
रिव्यू

PunjabKesari
फिल्म में इरफान खान अपनी बेटी के सपने को पूरा करने के चक्कर में खुद को समेटे हुए हैं।  यानी फिल्म में बाप-बेटी की केमिस्ट्री खूब जमी है। वहीं इरफान के भाई भी राधिका के सपने को साकार करने में उनका पूरा साथ देते हैं। कहानी सेकंड हाफ में थोड़ा सा खिंच जाती है, लेकिन इरफान और दीपक डोबरियाल की कॉमेडी इसे अलग ही लेवल पर ले जाती है। फिल्म के डायलॉग और कैरेक्टर्स लोगों को फिल्म की कहानी के साथ बांधे रखने में कामयाब रहते हैं।
डायरेक्शन 

PunjabKesari
निर्देशक होमी अदजानिया 145 मिनट की फिल्म को लोगों के साथ जोड़े रखने के लिए खूब मेहनत की है, जो पर्दे पर बखूबी देखने को मिलती है। होमी अदजानिया ने फिल्म कैरेक्टर्स का अच्छा इस्तेमाल किया है। फिल्म का म्यूजिक ठीक-ठाक है। 


Edited By

suman prajapati


Related News