''इश्कबाज'' फेम निशी सिंह भादली का निधन, 4 साल से पैरालिसिस से जूझ रही थीं एक्ट्रेस

9/19/2022 8:01:33 AM

मुंबई: टीवी इंडस्ट्री से हाल ही में एक दुखद भरी खबर सामने आई है। खबर है कि इश्कबाज और कुबूल है फेम निशि सिंह भादली अब हमारे बीच नहीं रही।  बीते 4 साल से जिंदगी और मौत से जंग लड़ रही निशि सिंह भादली ने महज 48 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। 

PunjabKesari

उनके पति संजय सिंह भादली ने निधन की पुष्‍ट‍ि करते हुए कहा-'निश‍ि चार साल से बीमार थीं। 13 फरवरी 2019 में उन्‍हें पैरालिसिस का पहला स्‍ट्रोक आया था। इसके बाद 3 फरवरी 2022 को दूसरा स्‍ट्रोक आया था। फ‍िर 24 मई 2022 को उनको तीसरी बार पैरालिस‍िस का अटैक आया। तब से वो अस्‍पताल में एडमिट थीं। फिर 2 सितंबर को उन्‍हें अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज किया गया था।

PunjabKesari

 

सब कुछ बहुत अच्‍छा चल रहा था लेकिन शनिवार देर शाम को उनकी तबीयत अचानक बिगड़ी। फिर रात में करीब 1 बजे हम उन्‍हें लेकर कूपर अस्‍पताल पहुंचे। वह पहले भी वहीं एडमिट थीं। रविवार को दोपहर तीन बजे उन्‍होंने आख‍िरी सांस ली।'

PunjabKesari


संजय सिंह भादली ने आगे कहा- 'सोमवार को एक्‍ट्रेस का अंतिम संस्‍कार किया जाएगा। अभी हमने तय नहीं किया कि कौन से श्‍मशान जाएंगे।'

PunjabKesari

निशी सिंह को जब पैरालिसिस का अटैक हुआ, वो इस तकलीफ से ठीक हो ही रही थीं कि इसके बाद फिर से उन्हें पैरालिसिस का अटैक हुआ। इन सबके बाद उनकी हालत बद से बदतर हो गई।

PunjabKesari

उनके पति संजय सिंह भादली ने बताया था-'साल 2019 में उन्हें पैरालिसिस अटैक के बाद 7-8 दिनों के लिए हॉस्पिटलाइज कराना पड़ा। हालात ऐसी हो गई कि वह किसी को पहचान भी नहीं पा रही थीं। आखिरकार हम उन्हें वापस घर ले आए। वह धीरे-धीरे ठीक हो रही थीं कि इस साल उन्हें फिर से अटैक आया और इस बार उनकी बॉडी का लेफ्ट साइड पैरालाइज्ड हो गया। उन्हें हर काम के लिए असिस्टेंट की जरूर हो गई।'

PunjabKesari

निशि सिंह भादली एक्ट्रेस शारीरिक तकलीफ से तो गुजर ही रही थीं। इसके साथ-साथ वो आर्थिक समस्याओं से भी घिर गई थीं। दो साल पहले उनके पति ने बीमारी का खर्च उठाने के लिए लोगों से मदद भी मांगी थी।

PunjabKesari

बता दें कि कपल को दो बच्चे हैं, जिसमें से उनका बेटा दिल्ली में अपने नाना-नानी के घर रहता है और बेटी उनके साथ ही रहती थी। बेटी मां को अकेले संभालन पाने के लिए काफी छोटी थी और संजय भी उनके देखभाल में ही लगे रहते थे। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Related News

Recommended News