''द कश्मीर फाइल्स'' को प्रोपेगेंडा बताने वाले नदाव लपिड को विवेक अग्निहोत्री का चैलेंज- ''एक सीन भी झूठ साबित हुआ तो फिल्में बनाना छोड़ दूंगा''

11/30/2022 11:19:34 AM

बॉलीवुड तड़का टीम. इजराइल के फिल्ममेकर और स्क्रीन राइटर नदाव लपिड के फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' पर दिए गए विवादित बयान ने सोशल मीडिया पर तहलका मचा दिया। गोवा में आयोजित 53वें इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया के जूरी प्रमुख नदाव लापिड ने अनुपम खेर और मिथुन चक्रवर्ती स्टारर फिल्म को 'वल्गर प्रोपेगेंडा' बताया। उनके इस बयान के बाद फिल्म की डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री का गुस्सा भड़क गया। इसे लेकर बीते मंगलवार उन्होंने एक क्रिप्टिक पोस्ट किया था। वहीं अब विवेक ने अपना एक वीडियो शेयर कर नदाव लापिड पर भड़ास निकाली है और उन्हें चैलेंज किया है। 

 

हाल ही में इंस्टाग्राम पर अपना वीडियो शेयर कर विवेक अग्निहोत्री ने कैप्शन में लिखा- ''आतंकवाद के समर्थक और नरसंहार से इंकार करने वाले मुझे कभी चुप नहीं करा सकते... जय हिंद.. द कश्मीर फाइल्स #ट्रू स्टोरी...''

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Vivek Ranjan Agnihotri (@vivekagnihotri)

वीडियो में डायरेक्टर कहते हैं -''दोस्तों गोवा के आईएफएफआई 2022 समारोह में एक ज्यूरी ने कहा कि 'द कश्मीर फाइल्स' एक वल्गर और प्रोपेगेंडा फिल्म है... मेरे लिए कोई नई बात नहीं है क्योंकि इस तरह की बातें तो सारे आतंकवादी के समर्थक और भारत के टुकड़े-टुकड़े करने वाले लोग हमेशा से बोलते आए हैं...लेकिन मेरे लिए जो सबसे ज्यादा आश्चर्य की बात जो है वह है भारत सरकार द्वारा आयोजित, भारत सरकार के मंच पर कश्मीर को भारत से अलग करने वाले टेररिस्ट लोगों के नैरेटिव को सपोर्ट किया गया और इस बात को लेकर भारत में ही रहने वाले कई भारतियों ने उसका इस्तेमाल किया...भारत के खिलाफ। आखिर यह लोग कौन हैं यह वही लोग हैं जो कश्मीर फाइल्स के लिए 4 साल पहले जब मैंने रिसर्च चालू किया था तब से इस फिल्म को प्रोपेगेंडा कह रहे हैं।''

 

 


उन्होंने कहा, ''700 लोगों के पर्सनल इंटरव्यू के बाद यह फिल्म बनी है। क्या वह 700 लोग जिनके मां बाप, भाई बहनों को सरेआम काट दिया गया था, गैंग रेप किया गया, दो टुकड़ों में बांट दिया गया क्या वह सब लोग प्रोपेगेंडा और अश्लील बातें कर रहे थे। जो पूरी तरह से एक हिंदू लैंड हुआ करता था, आज वहां हिंदू नहीं रहते हैं। उस लैंड में आज भी आपकी आंखों के सामने चुन-चुन के हिंदुओं को मारा जाता है, क्या यह प्रोपेगेंडा और अश्लील बात है। दोस्तों यह सवाल बार-बार उठता है कि कश्मीर फाइल्स एक प्रोपेगेंडा फिल्म है। वहां कभी हिंदू का जनोसाइड हुआ ही नहीं है।''

अपनी फिल्म को लेकर चुनौती देते हुए विवेक अग्निहोत्री ने कहा, "आज मैं विश्व के सारे अर्बन नक्सल्स को चैलेंज करता हूं और उन महान फिल्मेकर जो इसराइल से आए हैं उन्हें भी चैलेंज करता हूं कि अगर द कश्मीर फाइल्स के किसी एक शॉट, एक डायलॉग, एक इवेंट को साबित कर दें कि वो पूरी तरह से सच नहीं है, तो मैं फिल्में बनाना छोड़ दूंगा। दोस्तों यह लोग हैं कौन जो हमेशा भारत के खिलाफ खड़े रहते हैं।"
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

suman prajapati


Related News

Recommended News