सरेंडर के बाद दो घंटे के अंदर कस्टडी से रिहा हुईं सपना चौधरी, कोर्ट ने इस शर्त पर वापस लिया गिरफ्तारी वारंट

9/20/2022 8:53:03 AM

मुंबई: मशहूर हरियाणवी डांसर और 'बिग बॉस' फेम सपना चौधरी  ने 19 सिंतबर 2022 सोमवार को धोखाधड़ी मामले में लखनऊ कोर्ट में सरेंडर कर दिया। इसके बाद उनको हिरासत में ले लिया गया। दो घंटे तक हिरासत में रहने के बाद सपना चौधरी को रिहा कर दिया। सपना का गिरफ्तारी वारंट इस शर्त पर खत्म किया कि भविष्य में वह सुनवाई में पेश होकर सहयोग करेंगी। इसके बाद सपना अदालत से बाहर चली गईं।

PunjabKesari

सपना ने सोमवार को दाखिल अर्जी में दावा किया कि मामले की सुनवाई पिछली 22 अगस्त को हुई थी लेकिन बीमारी की वजह से ना तो वह खुद और ना ही उनके वकील अदालत में हाजिर हो पाए थे तथा जो भी हुआ वैसा करने की मंशा नहीं थी लिहाजा गिरफ्तारी वारंट को वापस ले लिया जाए। अदालत ने इसके बाद वारंट वापस ले लिया और मामले की अगली सुनवाई की तारीख 30 सितंबर नियत की।

PunjabKesari

सपना 2018 में एक इवेंट में अडवांस लेकर परफॉर्म नहीं कर पाई थीं। इसी मामले में वह कानूनी पचड़े में फंस गई हैं। सपना पर धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया गया है। शो के आयोजकों ने कोर्ट में सपना के खिलाफ शिकायत की थी जिसके बाद सपना को लखनऊ की एसीजेएम कोर्ट में पेश होना था। सपना का यह प्रोग्राम 13 अक्टूबर 2018 को होना था। इस शो का एक टिकट 300 रुपये का था और इन्हें ऑनलाइन और ऑफलाइन बेचा गया था।

PunjabKesari

हजारों लोग इस इवेंट में पहुंचे थे लेकिन सपना नहीं आई। सपना चौधरी के नहीं आने पर भीड़ ने हुड़दंग मचाया हालांकि उनके टिकट के पैसे वापस नहीं हो सके। बताया जाता है कि शो के लिए सपना ने अडवांस में लाखों रुपये लिए थे लेकिन इवेंट में नहीं पहुंचीं।

PunjabKesari

यह पहली बार नहीं है जब सपना चौधरी पर धोखाधड़ी के आरोप लगे हैं। फरवरी 2021 में दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने भी सपना चौधरी के खिलाफ धोखधड़ी का केस दर्ज किया था। यह केस एक सिलेब्रिटी मैनेजमेंट कंपनी ने दर्ज कराया था जो पहले सपना का काम देखती थी। इस केस में सपना के अलावा  सपना की मां, भाई और कई अन्य लोगों के नाम भी सामने आए थे। इन सब पर भरोसा तोड़ने, आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी और पैसों के गलत इस्तेमाल का आरोप लगा था।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Related News

Recommended News