Review: कमजोर कहानी में एक्शन का तड़का है Saaho

8/30/2019 2:54:02 PM

बॉलीवुड तड़का टीम. रजनीकांत और कमल हसन की तरह साउथ के सुपरस्टार बन चुके प्रभास की बहुचर्चित फिल्म 'साहो' शुक्रवार को रिलीज हो गई। फैंस को लंबे समय से इस फिल्म का इंतजार था, क्योंकि 'साहो' पहले 15 अगस्त को रिलीज होने वाली थी, लेकिन उस दिन बॉलीवुड की फिल्म 'मिशन मंगल' और 'बाटला हाउस' भी रिलीज हुई। ऐसे में 'साहो' की रिलीज डेट 15 दिन आगे बढ़ा दी गई। अब जैसे ही फिल्म रिलीज हुई तो सिनेमाहाल दर्शकों से भर गए हैं। आइए, जानते हैं कैसी है 'साहो' और दर्शकों का रिएक्शन...

PunjabKesari

'साहो' कुछ जगहों पर आपको शाहरुख खान की फिल्म 'डान' की तरह लगेगी। लेकिन यह वैसी भी नहीं है। फिल्म जो किरदार हैं उनकी एंट्री ऐसे होती है कि आपको कुछ समझ ही नहीं आता। प्रभास ने कुछ जगहों पर खुद को बेस्ट साबित करने की कोशिश की है, लेकिन 300 करोड़ की लागत से बनी यह फिल्म लागत से ज्यादा कलेक्शन जुटा पाएगी। यह फिल्म देखकर तो मुश्किल लगता है। 

PunjabKesari

 खलनायक की भूमिका में नील नितिन मुकेश और एक्ट्रेस श्रद्धा कपूर ने सिर्फ उतना किया है, जितना करने को उनसे कहा गया। इसलिए उनकी एक्टिंग कुछ जगहों पर बहुत ज्यादा इम्प्रेस नहीं करती। 

PunjabKesari

चंकी पांडे ने अपनी एक्टिंग से फिल्म में जान डालने की भरपूर कोशिश की है, लेकिन जैकी श्राफ को देखकर लगता है कि उन्हें अपने घर के बाहर एक बोर्ड टांग देना चाहिए कि कृपया, "मुझे मेहमानों वाली भूमिका के लिए अप्रोच ना करें"।  'साहो' एक अंडरकवर कॉप या क्रिमिनल की कहानी है। कई बार दर्शकों को समझ ही नहीं आता है कि आखिर चल क्या रहा है। ऐसे में कह सकते हैं कि 'साहो' की स्टोरी कुछ खास नहीं है, लेकिन एक्शन के कारण अच्छा रिस्पॉन्स मिल सकता है। 


Smita Sharma