रिहाई के वक्त थिरकीं...बचे पैसों से बांटी मिठाई..28 दिन जेल में रिया संग रही सुधा ने सुनाई कहानी,जाते वक्त एक्ट्रेस ने कहा था-''यादें लेकर जा रही हूं''

10/21/2022 12:17:02 PM

मुंबई: साल 2020 में बाॅलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने मौत को गले लगा लिया था। एक्टर की बाॅडी 14 जून की दोपहर उनके ब्रांद्रा स्थित फ्लैट में पंखे से लटकी मिली थी। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद जिस इंसान पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा वह थी उनकी गर्लफ्रेंड और एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद  रिया चक्रवर्ती को बहुत मुश्किल भरा वक्त देखना पड़ा था। जहां एक तरफ वह सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आईं।

PunjabKesari

वहीं एक्टर के सुसाइड केस में ड्रग एंट्री होने के बाद करीब 28 दिन तक भायखला जेल में रहना पड़ा था। जहां जेल के बाहर एनसीबी से लेकर ईडी और सीबीआई के बीच रिया और इस हाई प्रोफाइल केस को लेकर हल्ला मचा था। वहीं जेल के अंदर एक्ट्रेस की जिंदगी कैसी बीत रही थी इसकी पूरी कहानी एक्ट्रेस के साथ जेल में रह रही एक और आरोपी सुधा भारद्वाज ने हाल ही में सुनाई। 

 

कौन है सुधा भारद्वाज

सुधा भारद्वाज एक मानवाधिकार वकील और ट्रेड यूनियनिस्ट हैं। उन्हें भीमा कोरेगांव केस में गिरफ्तार किया गया था। मामले के तीन साल बाद साल 2021 में उन्हें जेल से रिहाई मिली थी। सुधा भारद्वाज ने एक इंटरव्यू में बताया है कि रिया चक्रवर्ती ने किस कदर जेल में किसी तरह के नखरे नहीं दिखाए और कैदियों के साथ मिल-जुलकर रहीं।

PunjabKesari

कैदियों संग रिया का था अच्छा बाॅन्ड 

सुधा भारद्वाज ने एक इंटरव्यू में कहा- एक्ट्रेस का जेल अन्य कैदियों संग अच्छा व्यवहार था। वो भी रिया को बेहद पसंद करते थे। वह जेल में अन्य कैदियों और लोगों के साथ एकदम फ्रेंडली थीं। वह बच्चों के साथ बहुत मिलनसार थीं। पहले दिन जब वो लोग (कैदी) उनसे मिले तो हर कोई कहे जा रहा था कि रिया कहां हैं? आप जानते हैं कि लोग कैसे होते हैं लेकिन रिया ने कभी इस बात का मुद्दा नहीं बनाया और न ही कभी इस बारे में बात करेंगी। यही वजह रही कि जब रिया चक्रवर्ती रिहा होने वाली थीं तो सभी कैदी उन्हें गेट तक छोड़ने आए।

PunjabKesari

 

रिहाई के दिन बचे पैसों बांटी मिठाई 

रिया चक्रवर्ती के पास उस समय जो भी पैसे बचे थे उनसे खरीदकर कैदियों को मिठाई बांटी और उनके लिए डांस भी दिया। सभी कैदी उन्हें विदा करने बाहर गेट तक आए थे। तब सब कहने लगे- रिया एक डांस, एक डांस और रिया सच में मान गईं। उन्होंने कैदियों के साथ डांस किया था। रिया ने जाते वक्त यह भी कहा था कि वह यहां से कुछ यादें लेकर जा रही हैं कि कैसे यहां लोग रहते थे। 

PunjabKesari
रिया चक्रवर्ती को बनाया गया बलि का बकरा 

सुधा भारद्वाज ने कहा- 'मीडिया में सुशांत सिंह के बारे में लगातार चल रहा था और बस चले ही जा रहा था। यह एकदम पागल करने वाला था। उस समय हम यही कहते थे कि रिया को बलि का बकरा बनाया जा रहा है। हम इससे नाखुश थे इसलिए मुझे बहुत खुशी हुई कि रिया को मुख्य बैरक में नहीं लाया गया और उन्हें स्पेशल सेल में रखा गया था। मुझे लगता है कि उन्हें वहां इसलिए रखा गया था ताकि वह टीवी न देखें क्योंकि लोग उस टीवी को हमेशा चालू रखते। हर समय अपने केस के बारे में सुनना उन्हें परेशान कर देता।लेकिन मैं एक बात जरूर कहना चाहूंगी कि किसी युवा व्यक्ति को इस तरह की परिस्थिति में झोंक देना, उसे बहुत परेशान कर देता है। लेकिन रिया ने इसे बेहद स्पोर्टिंग तरीके से लिया। 

बता दें कि रिया को सुशांत केस में ड्रग्स मामले में बाइकुला जेल में रखा था। 28 दिनों के बाद एक्ट्रेस को रिहा कर दिया था। 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Related News

Recommended News