''नो! नो! नो! कुछ भरो'' गाने की शूटिंग के लिए नीना गुप्ता को देख चीख पड़े थे सुभाष घई, डायरेक्टर की डिमांड पर पहननी पड़ी थी पैडेड ब्रा

6/17/2021 4:09:00 PM

बॉलीवुड तड़का टीम. गुजरे जमाने की मशहूर एक्ट्रेस नीना गुप्ता हाल ही में लॉन्च हुई अपनी ऑटोबायोग्राफी  'सच कहूं तो' को लेकर चर्चा में है। एक्ट्रेस की इस ऑटोबायोग्राफी में उनके जीवन के कई चौकाने वाले राजों का खुलासा हुआ है। इन्हीं में से एक पन्ने पर एक्ट्रेस के गाने 'चोली के पीछे क्‍या है' को लेकर एक बड़ा खुलासा किया गया है, जिससे उस वक्त एक्ट्रेस भी काफी शॉक्ड हो गई थीं।

PunjabKesari


मालूम हो, साल 1993 में रिलीज सुभाष घई की फिल्‍म 'खलनायक' का सुपरहिट सॉन्ग 'चोली के पीछे क्‍या है' काफी विवादों में रहा था। इस गाने पर उन दिनों अश्‍लीलता फैलाने के आरोप लगे। फिल्‍म के ऑडियो कैसेट्स को जलाया गया था।  गाने में माधुरी दीक्ष‍ित और ईला अरुण के साथ नीना गुप्‍ता की भी काफी आलोचना हुई थी।

PunjabKesari


नीना गुप्‍ता ने अब अपनी ऑटोबायॉग्रफी 'सच कहूं तो' में इस गाने की शूटिंग को लेकर नीना गुप्‍ता अपनी ऑटोबायॉग्रफी 'सच कहूं तो' में लिखती है कि वह गाने की शूटिंग के दौरान शर्म से पानी-पानी हो गई थीं। उन्होंने बताया कि वह इस गाने की शूटिंग के दौरान फिल्‍म के डायरेक्‍टर सुभाष घई ने उन्‍हें 'पैडेड ब्रा' पहनने की सलाह दी थी और तब उन्‍होंने इसको लेकर काफी शर्म महसूस किया था।

 

 

नीना लिखती हैं, 'जब मैंने पहली बार यह गाना सुना था, मुझे पता था कि यह कैची सॉन्‍ग है। लेकिन जब सुभाष घई ने मुझे बताया कि इसमें मेरा रोल क्‍या होगा तो मैं इसके करने से हिचक रही थी। मुझे यह जानकार तो बहुत खुशी हुई कि गाने में मेरा वाला हिस्‍सा मेरी दोस्‍त ईला अरुण गा रही हैं, उनके साथ मैंने कई फिल्‍मों में काम किया था। लेकिन मैं वो नहीं कर सकती थी, जो मुझसे कहा गया।'

 


उन्होंने आगे लिखा है- 'मुझे गुजराती आदिवासी कपड़े पहनाए और अप्रूवल के लिए डायरेक्‍टर सुभाष घई के पास भेज दिया। वह मुझे देखते ही चीखे- नो! नो! नो! नो! कुछ भरो। मैं शर्मिंदा हो गई। मेरे विचार से वह मेरी चोली के लिए यह कह रहे थे कि इसे और भरो। मैं जानती थी कि यह पर्सनल नहीं था। उन्‍होंने अपनी नजर में कुछ और विजुअलाइज किया था। रोल के लिए कुछ बड़ा। मैंने उस दिन शूटिंग नहीं की।'


अगले दिन जब वह सेट पर पहुंची तो उन्‍हें सुभाष घई के पास दूसरे आउटफिट में ले जाया गया। इस पर बार उन्‍हें एक हेवी पैडेड ब्रा भी दिया गया था। इस बार जब सुभाष घई ने उन्‍हें देखा तो वह संतुष्‍ट हो गए थे। 


नीना ने लिखा- 'सुभाष घई को सीन के लिए जो भी चाहिए होता था, वह उसके लिए बहुत खास इंस्‍ट्रक्‍शन देते थे। यही वजह थी कि वह इतने अच्छे निर्देशक थे।'


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

suman prajapati


Related News

Recommended News