Movie Review: मनोरंजन के साथ-साथ अच्छा सबक सिखाती है 'पति-पत्नी और वो'

12/6/2019 11:50:51 AM

बॉलीवुड तड़का टीम. काफी दिनों से जिसका दर्शकों को बेसबरी से इंतजार था वो फिल्म आज पर्दे पर रिलीज हो चुकी है। हम बात कर रहे हैं फिल्म पति पत्नी और वो की, जिसके ट्रेलर लॉन्च के बाद से ही दर्शकों में काफी उत्सुक्ता देखने को मिल रहा था, फिल्म की स्टारकास्ट भी फिल्म को पूरी मेहनत के साथ प्रमोट करने में बिजी दिखाई दे रही थी। अब देखना यह  होगा कि जिस लगन से भूमि, अनन्या और कार्तिक आर्यन फिल्म को प्रमोट करने में जुटे थे, क्या ये बॉक्स ऑफिस पर उतना धमाल मचा पाती है या नही। तो चलिए फिल्म देखने से पहले जान लेते हैं इसका रिव्यू

PunjabKesari
फिल्म 'पति पत्नी और वो' 1978 में बनीं डायरेक्टर बीआर चोपड़ा की फिल्म की रीमेक है, जिसे मुदस्सर अजीज ने मॉडर्न समय में डायरेक्ट किया है। जैसा कि फिल्म के नाम से ही पता लगता है यह एक पति पत्नी के रिश्ते में किसी दूसरे की एंट्री की कहानी है। 

PunjabKesari
कानपूर में पले बढ़े चिंटू त्यागी (कार्तिक आर्यन) अपने पिता अनुशासन में रहने वाले बेटे हैं, जो पढ़ लिख कर इंजीनियर बन जाते हैं और सरकारी नौकरी भी मिल जाती है। नौकरी लगने के बाद चिंटू पिता के कहने पर समझदार लड़की वेदिका (भूमि पेडनेकर) से शादी कर लेते हैं। दोनों का जीवन खुशी-खुशी अच्छा बीतने लगता है तभी शादी के तीन साल बाद चिंटू के जीवन में तपस्या( अनन्या पांडे) की लड़की आती हैं, जो कि चिंटू और वेदिका की खुशहाल मैरिज लाइफ को भंग कर देती है। तपस्या चिंटू के शहर में अपनी जॉब की तलाश में आई है, जहां चिंटू तपस्या की खूबसूरती देखकर उसकी ओर आकर्षित हो जाता है। चिंटू और तपस्या की नजदीकियों को करीब लाने का काम चिंटू का दोस्त फहीम रिजवी (अपारशक्ति खुराना) करता है, लेकिन वो वेदिका और तपस्या के बीच कोई संतुलन नही साध पाता। हालात काफी उलझ जाते हैं। इस तरह फिल्म में काफी ड्रामा और कन्फ्यूजन देखने को मिलती है।   

PunjabKesari
एक्टिंग की बात करें तो कार्तिक आर्यन अपने किरदार में पूरे खरे उतर पाए हैं, शादी लाइफ से लेकर अनन्या पांडे के इश्क तक वो अपनी भूमिका निभाने में सफल हो पाएं है। चिंटू की मैरिज लाइफ भंग करने का अनन्या का अंदाज काफी जबरदस्त है। भूमि पेडनेकर की एक्टिंग भी सराहनीय है। वहीं अपारशक्ति खुराना की परफॉर्मेंस भी फिल्म के हर सीन में जान डाल देती है।    

फिल्म के डायरेक्टर ने अपने निर्देशन के जरिए दर्शकों को फिल्म से बांधे रखने में पूरी कोशिश की है। मुदस्सर अजीज की फिल्म में हंसने और मनोरंजन का सिलसिला शुरू से लेकर आखिरी तक बना रहता है। फिल्म इंट्रेस्टिंग कहानी के साथ-साथ अच्छा सबक भी सिखाती है जो कि हर एक के जीवन में काफी महत्वपूर्ण है। 
फिल्म के संगीत की बात करें तो फिल्म का गाना अखियों से गोली मारे को फैंस द्वारा खूब पसंद किया गया है और वो फिल्म में जान डाल देता है। 
 


Smita Sharma


Related News