Movie Review: लड़कियों की अहमियत को बढ़ावा देती है जाह्नवी की ''गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल''

8/13/2020 1:25:27 PM

बॉलीवुड तड़़का टीम. एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर की स्टारर फिल्म 'गुंजन सक्सेनाः द कारगिल गर्ल'  12 अगस्त को रिलीज हो जुकी है। फैंस बेसब्री से जाह्नवी की इस फिल्म का इंतजार कर रहे थे। भारतीय वायु सेना पायलट गुंजन सक्सेना के जीवन पर आधारित ये फिल्म देशवासियों के लिए काफी खास है और लड़कियों के हौंसलों को बढ़ावा देने वाली है। आईए जानते हैं फिल्म का रिव्यू..

PunjabKesari
कहानी
फिल्म की कहानी की 13 साल की गुंजन (जाह्नवी कपूर) की परिवार से बहसबाजी से शुरू होती है। जब उसका दसवीं कक्षा का रिज्लट आता है तो घर में विवाद को माहौल पैदा हो जाता है। गुंजन परिवार को बताती है कि उसे पायलट बनना है। ये सुनकर घरवाले हैरान रह जाते हैं और उसे लड़की होने की बात याद दिलाते हैं। लेकिन गुंजन किसी की बातों में नहीं आना चाहती, क्योंकि उसके हौंसले बुलंद हैं और वो कभी हिम्मत नहीं हारना चाहती। 
आखिर एक दिन गुंजन को महिला पायलट की भर्ती में किस्मत आजमाने का मौका मिलता है और गुंजन भी इस मौके किसी भी कीमत पर खोना नहीं चाहती। वो पहुंचती है वहां किस्मत आजमने। लेकिन वहां जाकर उसे अपनी लंबाई और वजन को लेकर काफी मुश्किलें आती हैं। ऊपर से कई सारे युवकों के बीच अकेली महिला। ये गुंजन के लिए काफी चैलेंजिंग होता है। अब गुंजन अपने सपने को साकार करने के लिए क्या तरीका अपनाती है, ये जानने के लिए आपको खुद ही फिल्म देखनी होगी।

PunjabKesari


एक्टिंग 
एक्टिंग की बात करें तो गुंजन का किरदार जाह्नवी के लुक पर फिट बैठा है। वो जितनी मेहनत के साथ इस फिल्म में काम करती है, वो काबिल-ए-तारीफ है। पंकज त्रिपाठी की एक्टिंग भी तारीफ योग्य है। वहीं विनीत कुमार और अंगद बेदी ने भी अपने किरदारों पूरे दिल से निभाया है।

PunjabKesari


डायेरक्शन
फिल्म के डायरेक्शन की बात की जाए तो डायरेक्टर शरण शर्मा ने फिल्म की कहानी को यादगर बनाने के लिए काफी मेहनत की है। जो इस फिल्म में साफ देखने को मिलती है। 

 
  
 


Edited By

suman prajapati


Recommended News