‘जब से तुमने बंसी बजाई रे’ गीत लिखने वाली माया गोविंद की हालत नाजुक, कई अंगों ने काम करना किया बंद, दिन रात सेवा में जुटा बेटा

2/10/2022 2:38:12 PM

बॉलीवुड तड़का टीम. हिंदी सिनेमा की लोकप्रिय गीतकार माया गोविंद की हालत बेहद नाजुक है। 82 साल की माया गोविंद के बेटे अजय उन्हें अस्पताल में हफ्ते भर इलाज के बाद अब घर ले आए हैं और उनकी दिन रात सेवा कर रहे हैं। उनका कहाना है कि मां माया के तमाम अंगों ने काम करना बंद कर दिया है। 

PunjabKesari

 

माया गोविंद हिंदी सिनेमा का एक मशहूर नाम हैं, जिन्होंने अपनी गीतकारी से लाखों लोगों के दिलों को जीता है। वहीं अब उनकी नाजुक हालत की खबर सुन फैंस लगातार उनके लिए दुआएं कर रहे हैं। 

PunjabKesari


जानकारी के मुताबिक बीते हफ्ते भर तक चले माया के इलाज में अब तक काफी मोटी रकम खर्च हो चुकी है। उनके परिजन उनको चिकित्सकीय सुविधा प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं। घर पर उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट पर भी रखा गया है।

PunjabKesari

 

17 जनवरी 1940 में लखनऊ में जन्मीं माया गोविंद को कथक में महारत हासिल रही है। उन्होंने अपने काम के लिए तमाम पुरस्कार भी जीते। मशहूर एक्ट्रेस और नृत्यांगना हेमा मालिनी का डांस बैले ‘मीरा’ उन्हीं का लिखा हुआ है।

 

बतौर गीतकार के तौर पर अपना करियर 1972 में शुरू करने वाली माया गोविंद ने करीब 350 फिल्मों में गाने लिखे हैं। 1979 में रिलीज हुई फिल्म ‘सावन को आने दो’ में येशुदास और सुलक्षणा पंडित के गाए गाने ‘कजरे की बाती’ ने उन्हें खूब शोहरत दिलाई। निर्माता निर्देशक आत्मा राम की फिल्म ‘आरोप’ के ‘नैनों में दर्पण है’ और ‘जब से तुमने बंसी बजाई रे’ जैसे गीतों ने माया गोविंद को रातों रात मशहूर कर दिया। इसके बाद उन्होंने ‘बावरी’, ‘दलाल’, ‘गज गामिनी’,  ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’ और ‘हफ्ता वसूली’ जैसी तमाम बडी फिल्मों के गीत लिखे, जो लोगों द्वारा खूब पसंद किए गए। इसके अलावा उन्होंने दूरदर्शन पर प्रसारित हुए धारावाहिक ‘महाभारत’ के लिए काफी गीत, दोहे और छंद लिखे। ‘विष्णु पुराण’, ‘किस्मत’, ‘द्रौपदी’, ‘आप बीती’ आदि उनके चर्चित धारावाहिक रहे। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

suman prajapati


Related News

Recommended News