चुनाव जीतीं तो बॉलीवुड छोड़ देंगी कंगना, बोलीं- ''फिल्म इंडस्ट्री झूठ और फेक है''

5/20/2024 10:39:00 AM

बॉलीवुड तड़का टीम. एक्टिंग से राजनीति की दुनिया में एंट्री कर चुकीं एक्ट्रेस कंगना रनौत इन दिनों लोकसभा चुनाव के प्रचार में बिजी हैं। वह बीजेपी के टिकट पर हिमाचल प्रदेश के मंडी चुनावी मैदान में खड़ी हैं और आए दिन अपनी बयानबाजी को लेकर चर्चा में रहती हैं। इसी बीच, हाल ही में एक इंटरव्यू में कंगना ने कहा कि अगर वह चुनाव जीतती हैं तो बॉलीवुड छोड़ देंगी। इस बयान के बाद बॉलीवुड क्वीन खूब चर्चा में बनी हुई हैं।

हाल ही में पत्रकारों से बातचीत में कंगना रनौत ने कहा,“यदि उन्हें पार्टी में कोई राष्ट्रीय स्तर का पद या मिनिस्ट्री मिलती है तो वह इंडस्ट्री छोड़ने के बारे में सोच सकती हैं। लेकिन अभी तो सिर्फ मंडी के ही विकास के बारे में सोच रही हूं। मेरे बहुत से प्रोजेक्ट्स पेंडिंग है। मेरी अगली फिल्म इमरजेंसी आने वाली है। कई ऐसी फ़िल्में है जिन्हे में अधूरा छोड़ कर आई हूं लेकिन मेरे लिए यह रोल भी महत्त्वपूर्ण है।

उन्होंने आगे कहा कि फिल्म इंडस्ट्री झूठ और फेक है। वो अलग ही माहौल बना देते हैं। ये चकाचौंध भरी दुनिया है। यहां सब फेक है। कंगना का कहती हैं कि वो लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरना चाहती हैं। उनका मानना है कि उनके अलावा कोई और नहीं है, जो चीजों को बेहतर कर सकता है। बहुत सारी उम्मीदें हैं। एक्ट्रेस कहती हैं कि उन्हें अभी बहुत कुछ सीखना और करना है। जैसे-जैसे वो काम पर सीखती हैं उनका बहुत कुछ दांव पर लगा होता है।

 

कंगना रनौत आगे कहती हैं कि वो बहुत ही पैशनेट हैं। वो कभी नौकरी नहीं करना चाहती थीं। लेकिन उन्हें करना पड़ा। एक्ट्रेस ने बताया कि वो जब भी ऊब जाती हैं तो फिल्मों के लिए लिखना शुरू कर देती हैं। निर्देशन में हाथ आजमाती हैं। फिल्मों का निर्माण करती हैं। उनका मानना है कि उनके पास काफी बेहतरीन दिमाग है और वो पूरी लगन से इसमें लगी रहना चाहती हैं। राजनीति को लेकर एक्ट्रेस का कहना है कि अगर इसमें वो संभावनाएं देखती हैं तो इसमें पूरी लगन से काम करना चाहती हैं। 
 


बॉलीवुड क्वीन ने आगे कहा, “मुझे लगता है कि मुझे जो इतने सारे पुरस्कार मिले हैं, चाहे वह राष्ट्रीय पुरस्कार हों या पद्मश्री, अगर आने वाले समय में मुझे एमपी ऑफ द ईयर का पुरस्कार मिलेगा, तो मुझे बहुत खुशी होगी। हमारी पार्टी में, हमारे वादों, मोदी की गारंटी को बहुत गंभीरता से लिया जाता है, मुझे नहीं लगता कि अन्य पार्टियों में इस तरह के सख्त प्रोटोकॉल हैं जो हमारे पास हैं।”

 
 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

suman prajapati


Related News