SSR Case: AIIMS की फाइनल रिपोर्ट पर भड़कीं कंगना रनौत, बोलीं-''मतलब, सुशांत एक द‍िन उठे और खुद को मार लिया''

10/4/2020 8:37:58 AM

मुंबई: एक्ट्रेस कंगना रनौत सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से ही इस मामले पर अपनी राय रख रही हैं। वह समय-समय पर सुशांत को न्याय दिलाने के लिए अपनी आवाज उठा रही हैं। इसी बीच सुशांत केस में  एम्स के फरेंसिक एक्सपर्ट्स की टीम ने अपनी आखिरी और फाइनल रिपोर्ट में बताया है कि सुशांत की मौत आत्महत्या के कारण हुई है।

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद एक बार फिर कंगना भड़क गईं और उन्होंने एक बाद एक ट्वीट कर इस मामले में फिर से नए सवाल खड़े कर दिएय़
शनिवार शाम को कंगना ने लगातार चार ट्वीट किए और सवाल उठाया कि क्या किसी को आत्महत्या के लिए उकसाना अपराध नहीं है? एम्स की फाइनल रिपोर्ट आने के बाद कंगना ने सुशांत की मौत के पीछे बॉलीवुड में पनप रहे माफिया की ओर संकेत किया है।

 

PunjabKesari

कंगना रनौत ने अपने पहले ट्वीट में लिखा- 'एक युवा और असाधारण व्यक्ति एक दिन उठता है और खुद को मार लेता है। सुशांत ने कहा था कि उसके साथ बदतमीजी की जा रही है और उसकी जान को खतरा है। उन्होंने कहा था कि मूवी माफिया ने उसे बैन कर दिया है और परेशान किया। उस पर रेप का झूठा आरोप लगाकर मानसिक रूप से प्रभावित किया गया था। #AIIMS'

PunjabKesari

 

 

एक अन्य ट्वीट करते हुए कंगना ने लिखा-'हमें लेटेस्ट प्रोग्रेस के साथ कुछ सवालों के जवाब चाहिए।

1. सुशांत सिंह राजपूत ने बड़े प्रॉडक्शन हाउसेज के द्वारा खुद को बैन करने की बात कई बार कही। ये कौन लोग हैं जिन्होंने उनके खिलाफ साजिश रची?

2. मीडिया ने उनके रेपिस्ट होने की झूठी खबर क्यों फैलाई?

3. महेश भट्ट अपना मनोविश्लेषण क्यों कर रहे थे?'

PunjabKesari

 

तीसरे ट्वीट में कंगना ने लिखा-'उन्होंने खुलकर यशराज फिल्म्स के पतन के बारे में बात की थी। यह सब जानते हैं कि उन्हें कई बड़े प्रोडक्शन हाउस द्वारा बैन कर दिया गया था। उनकी कई फिल्मों को डंप किया गया, जो कि स्पष्ट साजिश की तरह लगता है।'

PunjabKesari

अपने चौथे और आखिरी ट्वीट में कंगना सवाल करते हुए लिखा-'सुशांत की मौत से पहले उनके परिवार ने शिकायत की थी कि उनकी जिंदगी को खतरा है। वे जीना चाहते थे लेकिन, फिल्में छोड़ना चाहते थे। वे कुर्ग में सेटल होना चाहते थे। फिर उन्हें किसने ब्लैकमेल किया?'


बता दें कि एम्स के फरेंसिक हेड डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने बताया था- 'यह पूरी तरह से फांसी लगाए जाने और आत्महत्या का मामला है। सुशांत की बॉडी पर फांसी के अलावा कोई अन्य चोट के निशान नहीं थे। बॉडी में कोई भी जहरीला या नशीला पदार्थ नहीं मिला है। गर्दन पर मिला पूरा निशान फांसी लगाने के कारण बना है।' वहीं सुशांत की फैमिली, दोस्त और उनके चाहने वालें पिछले कई दिनों से सीबीआई जांच में हो रही देरी पर निराशा हैं। सभी चाहते हैं कि  इस केस की जांच आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या के एंगल से की जाए


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Smita Sharma


Related News

Recommended News