जावेद अख्तर का ट्वीट- ''शाहजहां की रगों में 75 प्रतिशत राजपूताना खून'',भड़के लोग बोले- ''वाराणसी में 76 मंदिर किसने गिरवाए थे''

7/27/2021 9:13:20 AM

मुंबई: दिग्गज गीतकार जावेद अख्तर ट्विटर पर काफी एक्टिव रहते हैं। जावेद अख्तर अक्सर  समाज, राजनीति, साहित्य, इतिहास हर तरह के मुद्दे पर अपना पक्ष जरूर रखते हैं। कई बार वे विवादित विचार भी रख देते हैं जिसे वह लोगों के निशाने पर आ जाते हैं हालांकि जावेद अख्तर को इन सब बातों से कोई असर नहीं पड़ता। यही कारण है कि उन्होंने एक बार फिर  शाहजहां के बारे में ऐसी बात कह दी है कि ट्विटर पर बहस छिड़ चुकी है।

PunjabKesari

 जावेद अख्तर ने बराक ओबामा से शाहजहां की तुलना भी की है। इसके बाद कई सारे लोग उनका विरोध भी कर रहे हैं और उनका खूब मजाक बनाया जा रहा है। अपने लेटेस्ट ट्वीट में वह  शाहजहां को भारतीय बताना चाह रहे हैं।

PunjabKesari

जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट कर लिखा-'ओबामा के पिता केन्या के निवासी थे और उनकी पैतृक चाची आज भी केन्या में रहती है लेकिन ओबामा अमेरिका में जन्मे तो उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ने का अधिकार मिल गया। शाहजहां भी भारत में जन्म लेने वाली पांचवी पीढ़ी थी और उसकी दादी और मां राजपूतानी थीं। यानी उसका 75 फीसद खून राजपूत था लेकिन लोग अभी भी उसे बाहरी/विदेशी बोलते हैं। उनके इस ट्वीट को देख लोग भड़क गए और उन्होंने जावेद अख्तर की क्लास लगाई।' 

PunjabKesari

अनुपमा नामक एक ट्विटर यूज़र ने लिखा-'क्या ओबामा ने अमरीका में किसी चर्च को नष्ट किया? क्या उसने ईसाइयों का नरसंहार किया? असल में, वह एक धर्मनिष्ठ ईसाई है। आपके पूर्वज शाहजहां एक मुसलमान थे। उसने 1635 में ओरछा के महान मंदिर को नष्ट कर दिया। उनके आदेश पर वाराणसी में 76 हिंदू मंदिरों को ध्वस्त कर दिया गया था। बादशाहनामा में लिखा है।'

PunjabKesari

 कल्पना झाझरिया ने लिखा है कि जब जिस्म में 75 फीसदी राजपूत खून था, फिर भी उनके नाम राजपूत जैसे थे क्या ? 
 

PunjabKesari

  
जावेद अख्तर के इस ट्वीट फिल्ममेकर विवेक रंजन अग्निहोत्री ने प्रतिक्रिया दी है उन्होंने ट्वीट कर लिखा-'जावेद साब, आप यहां गलत हैं. ओबामा के पैरेंट्स या दादा ने अमेरिका पर आक्रमण नहीं किया। अगर आप शाहजहां के साथ ओबामा की समानता कर रहे हैं तो ओबामा ने अमेरिका में कभी भी चर्चों को ध्वस्त नहीं किया और ना ही तलवार के दम किसी अमेरिकी का धर्म परिवर्तन करवाया। ओबामा को अत्याचारी शासक नहीं थे। ये एक अतार्किक तर्क है।'


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Recommended News

static