शो ''हप्पू की उलटन पलटन'' के एक्टर संजय चौधरी के साथ दिनदहाड़े हुई लूटपाट, मोबाइल छीना और मांगे 20 हज़ार रुपए

10/1/2020 3:39:34 PM

बॉलीवुड तड़का टीम. लूटपाट और मारधाड़ वाली खबरे आम लोगों के साथ दिन में कई बार सुनने को मिलती हैं। लेकिन ऐसी खबरें अगर फिल्म और टीवी स्टार्स के साथ भी सुनने को मिले तो लोगों को शायद ही यकीन होगा। कुछ ऐसी ही घटना हुई 'हप्पू की उलटन पलटन' में कमलेश का किरदार निभाने वाले एक्टर संजय चौधरी के साथ। उनके साथ राह चलते दिनदहाड़े लूटपाट की वारदात हुई। जिसके बाद एक्टर ने सारी वारदात वीडियो के जरिए फैंस को बताई। 

PunjabKesari


संजय के साथ ये वारदात तब हुई, जब वो मुंबई के मीरा रोड से गुजर रहे थे। संजय चौधरी मीरा रोड से नायगांव मुंबई 'हप्पू की उलटन पलटन' के सेट पर जा रहे थे। उस वक्त दोपहर के ढाई बज रहे थे। संजय ने बताया कि जब मैं गाड़ी से जा रहा था तभी स्कूटी पर एक आदमी मेरी कार के पास आया और खिड़की पर मारना शुरू कर दिया। वो गालियां भी दे रहा था। उसने मुझे गाड़ी साइड में लगाने के लिए कहा। मैंने सोचा कि गाड़ी तो मैं आराम से ही चला रहा था। मेरी तो गाड़ी कहीं टच भी नहीं हुई।

 

View this post on Instagram

This is actually happened with me criminals doesn’t care who you are

A post shared by Sanjay choudhary (@sanjayychoudhary) on

फिर मैंने गाड़ी साइड में लगा दी। उसने शीशा नीचे करने के लिए कहा। मैंने जैसे ही शीशा नीचे किया, उसने खिड़की से हाथ डालकर गेट खोला और गाड़ी में बैठ गया। उसने सबसे पहले मेरा मोबाइल लिया और कहने लगा तूने मुझे मार दिया। मेरा बहुत नुकसान हुआ है। 20 हजार का मेरा नुकसान हो गया। वो कहने लगा मेरे हाथ में चोट लगी है। उसके बाद दो तीन लोग और स्कूटी से आ गए। वो कहने लगा अभी एटीएम से 20 हजार रुपये निकाल और दे।

PunjabKesari
संजय ने आगे बताया कि मैंने उनसे कहा कि अभी मेरे पास इतने पैसे नहीं हैं। तब वो कहने लगा कि मैं मोबाइल नहीं दूंगा लेकर जा रहा हूं। इसके बाद वो गाली देने लग गया है। पुलिस के पास ले जाने की धमकी देने लगा। वो दो तीन लोग थे मैं अकेला था। मैं थोड़ा डर गया था। मैंने अपना वॉलेट निकाला उसमें पांच सौ रुपये थे। उसके बाद गाड़ी में दो सौ रुपये पड़े थे, उसको वो भी दे दिए। सात सौ रुपये लेकर उसने कहा कि चल निकल निकल।'
एक्टर ने फैंस को अवेयर करते हुए बताया कि ऐसी हालत में गाड़ी रोकनी नहीं चाहिए। गाड़ी रोक भी दी तो शीशा नीचे नहीं करना चाहिए। मैं बहुत सीधा इंसान हूं। मैं इमोशनल हो जाता हूं। मैं इसलिए आप सबको आगाह करना चाहता हूं कि कभी भी ऐसा हो तो गाड़ी रोको मत। लोगों के पास जॉब नहीं है काम नहीं है ऐसे में इस तरह की ये वारदात हो रही हैं।


suman prajapati


Related News