Gullak 2 Review: प्यार,आसूं और नॉस्टेल्जिया से भरा ये फैमिली ड्रामा है एकदम रियल

1/13/2021 1:38:00 PM

मुंबई: डिजिटल प्लेटफॉर्मों पर दिन रात परोसे जा रहे कचरे के बीच एक शानदार सीरीज दस्तक देने जा रही है। इसे चोरी छिपे देखने की भी जरूरत नहीं है। जी हां, हम बात कर रहे हैं सोनी लिव की वेब सीरीज 'गुल्लक' के दूसरा सीजन की। सोनी लिव पर रिलीज हुई सीरीज 'गुल्लक' बिंज वॉच के लिए सबसे सही डिजिटल कंटेंट है।इस सीरीज का पहला सीजन काफी शानदार था। वहीं दूसरी से भी एक्सपेक्टेशन ज्यादा है। तो चलिए जानते हैं सीरीज 'गुल्लक' के दूसरे सीजन के बारे में...

PunjabKesari

 

 कहानी 

अगर आपने 2019 में इसके पहले सीजन देखा है तो आपको पता होगा कि ये संतोष मिश्रा नामक परिवार की कहानी है, जो मिडिल क्लास फैमिली है। पिता जो ईमानदार और बड़े ठंडे दिमाग का है। वह बिजली विभाग में काम करता है। बच्चों के साथ मजाक करता है ओर अपनी पड़ोसन यानी बिट्टू की मम्मी पर तंज कसता रहता है।घर की हेड यानि शांती मिश्रा गर्म मिजाज की हैं। वह सब पर काफी चिल्लाती हैं लेकिन प्यार भी उतना ही करती है। शांती मिश्रा अगर थोड़ी सी बीमार हो जाएं तो पूरा घर उनकी सेवा में लग जाता है।  घर के थर्ड मेंबर हैं अन्नू,जो एसएससी की तैयारी कर रहे थे मगर उन्हें नौकरी नहीं मिली और आखिरी में घर के छोटे सदस्य अमन। इन सभी के अलावा जो सबसे खास सदस्य है, वो है गुल्लक। मिट्टी का गुल्लक जिसके मुंह से आप मिश्रा परिवार की कहानी सुनते हैं।

 

PunjabKesari

 

दूसरे सीजन में कुछ खास बदलाव नहीं

इस सीरीज के 5 एपिसोड है जो डेली डोज की कहानियां बताते हैं। पहले सीजन और दूसरे सीजन में ज्यादा बदलाव नहीं हैं। बस थोड़ा घर में चेंज आया है। पिता, जो रात बिस्तर पर सोने से पहले अपनी आर्थिक स्थिति के बारे में सोचता है। रिश्वत लेने की ठानता है मगर फिर पकड़े जाने के डर सताता ह। 
 मां जिसे शूगर है और पूरा घर उसकी देख रेख में जुटा है। बड़ा बेटा अन्नू जो बेरोजगार है।  अमन, जिसका इस साल बोर्ड एग्जाम है और पूरे घर के ताने सुनता है। 

PunjabKesari

 

छोटे-छोटे पलों में ढूंढते हैं खुशियां 
 

 
ये लोग छोटे-छोटे पलों में खुशियां ढूंढते हैं। जैसे डिनर के बाद मिडिल क्लास फैमिली की आईसक्रीम ट्रीट, बेटे के एक्जाम में पास होने पर पेस्ट्री-कोल्ड ड्रिंक वाली पार्टी।


PunjabKesari

 

ये चीज बनाती है खास

 

जब हम किसी मिडल क्लास फैमिली पर बनी वेब सीरीज को देखते हैं तो उनसें पैसों की कमी दिखाई जाती है। अगर ये नहीं तो कोई लव स्टोरी। पर गुल्लक में ऐसा नहीं है। सीरीज में कहानी, एक्टिंग और राइटिंग का परफेक्ट मसाला है। ह्यूमर है, मगर सिर्फ इतना कि आपके चेहरे पर स्माइल आ जाए। इमोशन तो इसमें कूट-कूट के भरे पड़े हैं। 

 

PunjabKesari

राइटर का कमाल 

दुर्गेश सिंह की राइटिंग भी काफी अच्छी है। सीरीज में कुछ लाइन्स ऐसी हैं जो कैरेक्टर से पहले आप खुद ही बोल देते हैं। जैसे अन्नू का तकिया कलाम आपको नहीं पता? मसलन बिजली का बिल ज्यादा आने पर दिल्ली शिफ्ट होने वाली बात, लड़कियों से ज़्यादा लड़कों को पढ़ाई की ज़रूरत है वाली बातें। 
दुर्गेश सिंह ने कुछ सीन्स कमाल के लिखे हैं।

 

दमदार एक्टिंग

कहानी और राइटिंग के बाद अब बात करते हैं एक्टिंग की। संतोष यानी जमील खान की एक्टिंग दमदार है। उनकी कॉमिक टाइमिंग भी कमाल की है। शांति मिश्रा यानी गीतांजलि कुलकर्णी भी मां और पत्नी के परफेक्ट रोल में दिखी हैं। बिट्टू की मम्मी यानी सुनीता राजवर को भी इसमें ठीक-ठाक जगह मिली। वहीं अगर आप घिसी-पिटी कहानियों से बोर हो गए तो आपको गुल्लक का दूसरा सीजन जरुर देखना चाहिए जो 15 जनवरी को रिलीज हो रहा है। 
 


Smita Sharma


Recommended News