कोरियोग्राफर गणेश आचार्य के खिलाफ केस दर्ज, महिला ने लगाया था उत्पीड़न, पीछा और ताक-झांक करने का आरोप

4/1/2022 11:46:21 AM

बॉलीवुड तड़का टीम. कोरियोग्राफर गणेश आचार्य बॉलीवुड इंडस्ट्री का एक जाना माना नाम हैं, जिन्होंने अपने दम पर लोगों के बीच खास जगह बनाई है। गणेश आचार्य की कोरियोग्राफी की दुनिया हद से परे दीवानी है, लेकिन अब यह लोकप्रिय कोरियोग्राफर कानूनी विवादों में घिरते नजर आ रहे है। मुंबई पुलिस ने साल 2020 में एक महिला कोरियोग्राफर की ओर से दर्ज कराए गए मामले में गणेश आचार्य पर उत्पीड़न, पीछा और ताक-झांक करने का आरोप लगाकर एक आरोप पत्र दायर किया है।

 

PunjabKesari

 

मामले की जांच कर रहे ओशिवारा पुलिस स्टेशन के अधिकारी संदीप शिंदे ने बताया कि इस मामले में हाल ही में अंधेरी में संबंधित मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की आदालत में आरोप पत्र दायर किया गया है। गणेश आचार्य के साथ काम करने वाली को-डांसर ने कोरियॉग्राफर पर ये आरोप साल 2020 में लगाए थे।

 

 

खबरों के अनुसार कोरियोग्राफर गणेश आचार्य और उनके सहायक पर धारा 354-ए (यौन उत्पीड़न), 354-सी (दृश्यरतिकता, 345-डी (पीछा करने), 509 (महिला की विनम्रता का अपमान करना), 323 (चोट पहुंचाना), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान), भारतीय दंड संहिता की धारा 506 (आपराधिक धमकी) और 34 (अपराध करने का सामान्य इरादा) के तहत आरोप लगाए गए हैं। वहीं, इस मामले में अभी तक गणेश आचार्य की ओर से कोई बयान सामने नहीं आया है।   

PunjabKesari


 
महिला कोरियोग्राफर ने साल 2020 में गणेश आचार्य  पर आरोप लगाते हुए कहा था कि जब वह उनके दफ्तर में काम करने के लिए जाती थीं, तो वह उनपर गलत टिप्पणियां करने के साथ ही अश्लील वीडियो देखने के लिए कहता था। कोरियोग्राफर ने उन्हें यौन उत्पीड़न को ठुकराने के बाद परेशान करना शुरू कर दिया। जब महिला ने इनकार किया तो छह महीने बाद ही भारतीय फिल्म और टेलीविजन कोरियोग्राफर एसोसिएशन ने उनकी सदस्यता समाप्त कर दी थी।


इतना ही नहीं, महिला ने ये भी आरोप लगाया था कि जब उन्होंने एक मीटिंग में गणेश आचार्य का विरोध किया तो उनके साथ मारपीट की गई। उन्होंने कहा कि महिला सहायकों ने मारपीट करने के साथ ही उन्हें गालियां भी दीं, जिसके बाद ही उन्होंने पुलिस के पास जाने का फैसला लिया। लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया, इसके बाद मैंने वकील की मदद केस दर्ज कराया।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

suman prajapati


Related News

Recommended News