डायरेक्टर आयशा सुल्ताना के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज, कोविड-19 को बताया लक्षद्वीप में केंद्र सरकार का जैविक हथियार

6/11/2021 12:18:07 PM

मुंबई: लक्षद्वीप की मशहूर एक्ट्रेस और फिल्म डायरेक्टर आयशा सुल्ताना के खिलाफ हाल ही में राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। आयशा पर आरोप है कि कुछ दिन पहले एक मलयालम टीवी डिबेट के दौरान उन्होंने कोविड 19 को लेकर केंद्र सरकार पर झूठा आरोप लगाया था। आयशा ने कहा था कि  केंद्र सरकार लक्षद्वीप में कोरोना का प्रसार जैविक हथियार की तरह कर रही है।

PunjabKesari

डिबेट में आयशा सुल्ताना ने कहा था-'केंद्र द्वारा ध्यान देने से पहले, लक्षद्वीप में COVID-19 के 0 मामले थे। अब हर दिन 100 से ज्यादा मामले आ रहे हैं। केंद्र ने जो (कोरोना) यहां तैनात किया है वह बायोवेपन है। मैं साफ साफ कहती हूं कि केंद्र सरकार ने लोगों के खिलाफ  बायो वेपन तैनात किया है।'

PunjabKesari

आयशा के इसी बयान के खिलाफ लक्षद्वीप इकाई के भाजपा अध्यक्ष अब्दुल खादर ने शिकायत दर्ज कराई है।  वहीं लक्षदीप की कवरत्ती  पुलिस ने आयशा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए (देशद्रोह) और 153 बी (अभद्र भाषा) के तहत मामला दर्ज किया है।

PunjabKesari

पुलिस में दायर अपनी शिकायत में खादर ने कहा- 'आयशा सुल्ताना ने एक मलयालम टीवी चैनल के डिबेट के दौरान केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। आयशा का यह बयान पूरी तरह से राष्ट्रविरोधी है, जिससे केंद्र सरकार की छवि धूमिल हो रही है। इसलिए ऐसा दोबारा न हो उसके लिए आयशा के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। 'बता दें कि लक्षद्वीप स्थित मॉडल, डायरेक्टर और एक्ट्रेस आयशा ने कई मलयालम फिल्म निर्माताओं के साथ काम किया है। सुल्ताना लक्षद्वीप के चेटियाथ द्वीप की रहने वाली हैं।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Recommended News

static