''राजराजा चोलन के काल में ''हिंदू धर्म'' जैसी कोई चीज नहीं थी'' अब कमल हासन के इस बयान मचा बवाल

10/6/2022 4:04:49 PM

मुंबई: मनोरंजन जगत में अक्सर इतिहास पर आधारित फिल्मों का निर्माण होता रहता है। साउथ इंडस्ट्री हो या फिर बाॅलीवुड इंडस्ट्री इतिहास के महान योद्धा और राजाओं की कहानी फिल्मों के जरिए लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की जाती है। इन फिल्मों के आने के बाद विवाद भी जरूर होता है। जैसे इस समय आदिपुरुष को लेकर हो रहा है जिसे रामायण से प्रेरित बताया जा रहा है।

PunjabKesari

अभी इस फिल्म पर विवाद हो ही रहा था कि इस बीच एक और महान शासक के धर्म और पहचान को लेकर बयानों का सिलसिला शुरू हो गया है। बयान था राजराजा चोलन के काल में 'हिंदू धर्म' जैसी कोई चीज नहीं थी जिसे निर्माता-एक्टर कमल हासन ने दिया। दरअसल कमल हसन हाल ही में मणिरत्नम की 'पोन्नियिन सेल्वन-1' की विशेष स्क्रीनिंग में पहुंचे थे।

PunjabKesari

फिल्म देखने के बाद 'पोन्नियिन सेल्वन-1' के नायक राजराजा चोलन को एक हिंदू राजा के रूप में चित्रित करने के हालिया विरोध के बारे में बात की। उन्होंने कहा- 'राजराजा चोलन के समय में हिंदू धर्म की अवधारणा ही नहीं थी और यह शब्द अंग्रेजों ने अपनी सुविधा के लिए गढ़ा था।' कमल हासन के इस बयान के बाद बयान बाजी शुरू हो गई है। 

PunjabKesari

 

तमिल निर्देशक हैं 

इस विवाद की शुरुआत कमल हासन से नहीं बल्कि तमिल निर्देशक वेत्रिमारन के बयान से हुई है। वेत्रिमारन ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा था-'हमारे प्रतीक लगातार हमसे छीने जा रहे हैं। वल्लुवर का भगवाकरण हो रहा है। राजराजा चोलन को लगातार हिंदू राजा कहा जा रहा है।'

PunjabKesari

इस विवाद की शुरुआत फिल्म पोन्नियन सेल्वन की रिलीज के बाद से हुई। 30 सितंबर को रिलीज हुई इस फिल्म में चोल साम्राज्य की कहानी को दिखाया गया है। इसी फिल्म ये सावल उठा है कि राजाराज चोल हिंदू हैं या नहीं। पोन्नियन सेल्वन में ऐश्वर्या राय बच्चन,विक्रम, कार्ति, जायम रवि और तृषा कृष्णन जैसे स्टार्स हैं। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Related News

Recommended News