''हाॅस्पिटल में जोर-जोर से गाने लगे...14 फरवरी की रात घर चलो घर रहे और फिर दिल धड़कना बंद'' बेटे ने बताया बप्पी दा के आखिरी दिनों का हाल

2/23/2022 12:46:28 PM

मुंबई: बाॅलीवुड के दिग्गज म्यूजिक कंपोजर,सिंगर और डिस्को किंग बप्पी लहिरी अब हमारे बीच नहीं हैं। लोग प्यार से बप्पी लहिरी को बप्पी दा कहते थे। बप्पी दा 15 फरवरी को दुनिया को अलविदा कह गए। वहीं 16 फरवरी की सुबह उनका अंतिम संस्कार किया गया। बप्पी दा के चले जाने के बाद उनका पूरा परिवार बिखर गया। पिता को खोने के बाद बेटा बप्पा और बेटी रीमा बुरी तरह टूट गए।

PunjabKesari

सिंगर के अंतिम संस्कार के दौरान जहां बेटे बप्पा ने कांपते हाथों से पिता की अर्थी उठाईं।

PunjabKesari

वहीं रीमा तो पिता के अंतिम संस्कार में चीखती रहीं। इस दौरान की तस्वीरों ने हर किसी की आंखें नम कर दी। वहीं अब अपने पिता के निधन के बाद फाइनली बप्पा ने एक न्यूज पोर्टल से बात की और पापा के अंतिम दिनों के बारे में बताया। बप्पा ने कहा-'14 फरवरी को पिता जी घर जाना चाहते हैं। वह लगातार कह रहे थे- घर चलो घर चलो। अगले दिन वह खाना नहीं खा रहे थे। इसके बाद उन पर बेहोशी सी छाने लगी। तब हमने डॉक्टर को बुलाया। उन्होंने कहा कि उनके दिल ने धड़कना ही बंद कर दिया था।'

बप्पा लहिरी ने यह भी बताया कि अपने आखिरी दिनों में बप्पी हॉस्पिटल में भी म्यूजिक सुना करते थे। उन्होंने कहा- 'वह अपने बिस्तर के पास मेज लगा लेते थे और गाने चलाते रहते थे। एक दिन हॉस्पिटल में वह जोर-जोर से गाना गाने लगे तो मेरी मां ने कहा- क्या कर रहे हो? वह लता मंगेशकर के निधन से दुखी थे क्योंकि वह उन्हें मां कहते थे। मुझे भरोसा नहीं हो रहा कि वह चले गए हैं। सारे घर में उनकी आवाज गूंजती थी। वह अभी भी मेरे कानों में गूंज रही है।'

PunjabKesari

वापस यूएस जाने के सवाल पर बप्पा ने कहा- 'मुझे देखना होगा लेकिन नहीं। मैं अपनी मां के साथ रहना चाहता हूं। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी यहीं मेरे पिता के साथ गुजारी है। मुझे अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है कि अब वह इस दुनिया में नहीं हैं। मैं उनके साथ शो किया करता था। हमें जो प्यार मिलता था वह अविश्वसनीय था। मेरे पिता केवल एक म्यूजिशन या सिंगर नहीं थे बल्कि वह हर किसी से जुड़े हुए थे।'

 

 

 

 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Related News

Recommended News