'द कश्मीर फाइल्स' को प्रोपेगेंडा और वल्गर बताने पर IFFI जूरी हेड पर भड़के अनुपम खेर, बोले-'झूठ का कद कितना भी ऊंचा क्यों ना हो..

11/29/2022 9:13:15 AM

मुंबई: बाॅलीवुड के दिग्गज एक्टर अनुपम खेर इंडस्ट्री के वो स्टार हैं जो हर मुद्दे पर खुलकर अपनी राय रखते हैं। हाल ही में अनुपम खेर ने IFFI यानी भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल के ज्यूरी हेड नदव लापिड के बयान पर अपना रिएक्शन दिया। दरअसल, इजराइली फिल्म निर्माता नदव लापिड ने इस साल की ब्लाॅकबस्टर फिल्म द कश्मीर फाइल्स को प्रोपेगेंडा फिल्म बताया है। साथ ही उन्होंने इसे 'भद्दी' फिल्म भी कहा है।

PunjabKesari

नादव लैपिड ने फिल्म की आलोचना करते हुए यह तक कह दिया यह फिल्म फेस्टिवल की प्रतियोगिता में शामिल भी किए जाने लायक नहीं थी।यह फिल्म सिर्फ प्रचार के लिए थी। नादव ने कहा-'इस फिल्म को देखकर हम सभी हैरान और परेशान थे। यह एक वल्गर फिल्म है। यह फिल्म एक प्रतिष्ठित फिल्म समारोह के एक कॉम्पटेटिव सेक्शन के लिए सही नहीं है।'सोशल मीडिया पर उनका ये बयान काफी हंगामा मचा रहा है। इसपर रिएक्ट करते हुए अनुपम खेर ने एक ट्वीट किया है और अपनी नाराजगी जाहिर की है।

PunjabKesari

 

अनुपम खेर ने ट्वीट करते हुए लिखा- 'झूठ का कद कितना भी ऊंचा क्यों ना हो.. सत्य के मुकाबले में हमेशा छोटा ही होता है।' एक्टर का ये ट्वीट इस बात को साफ कर रहा है कि नदव लापिड के कहे शब्दों से उन्हें आपत्ति है। 

PunjabKesari

वहीं अशोक पंडित ने भी इस बयान पर अपना रिएक्शन दिया है। उन्होंने कहा है-'इजरायली फिल्म मेकर नादव लैपिड ने कश्मीर फाइल्स को वल्गर फिल्म बताकर आतंकियों के खिलाफ भारत की लड़ाई का मजाक उड़ाया है। उन्होंने बीजेपी की सरकार के नीचे 7 लाख कश्मीरी पंडितों का अपमान किया है। ये IFFI की विश्वसनीयता के लिए बड़ा झटका है।'

PunjabKesari

बता दें कि अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती और पल्लवी जोशी जैसे सितारों से सजी विवेक अग्निहोत्री की 'द कश्मीर फाइल्स' 11 मार्च 2022 को रिलीज हुई। इस फिल्म ने सिनेमाघरों में भी अच्छा कारोबार किया था। इस फिल्म में कश्मीरी पंडितों के साथ हुए अत्यचार को दिखाया गया है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Related News

Recommended News