''हमारा कल्चर, हमारा मियां है'' फेमिनिज्म पर पाक एक्ट्रेस के बयान से उबाल, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #OurhusbandisourCulture

8/3/2021 10:22:32 AM

मुंबई: पाकिस्तानी एक्ट्रेस सदफ कंवल इन दिनों अपने एक बयान की वजह से काफी चर्चा में हैं। हाल ही में शौहर शहरोज के साथ एक इवेंट में पहुंची। इस दौरान उन्होंने महिलावाद और महिलाओं की भूमिका पर एक ऐसी टिप्पणी कर दी जिससे वह लोगों के निशाने पर आ गईं। जब एंकर ने सदफ से पूछा कि वह महिलावाद पर क्या सोचती हैं?

PunjabKesari

इस पर सदफ कहती हैं-'औरत मजलूम (लाचार) बिल्कुल नहीं है।  औरत काफी मजबूत है और मैं खुद को बहुत मजबूत समझती हूं।  औरत बिल्कुल भी बेचारी नहीं है।  हमारा कल्चर क्या है, हमारा मियां हैं, मैंने शादी की है।  मैंने उसके जूते भी उठाने हैं।  उसके कपड़े भी स्त्री करूंगी, जो मैं नहीं करती हूं बल्कि कम करती हूं।' 

 

उन्होंने आगे कहा-'लेकिन मुझे पता होता है कि मेरे मियां के कपड़े कहां रखे हैं।  मुझे यह भी मालूम होता है कि मेरे मियां की कौन सी चीज कहां पड़ी है या उन्हें क्या खाना है।  मुझे ये बात पता होनी भी चाहिए  क्योंकि मैं उसकी बीवी हूं।

PunjabKesari

 मैं एक औरत हूं इसलिए मेरे बारे में उसे कुछ पता हो ना हो उसकी चीजे मुझे पता होनी चाहिए।  मैं यही देखकर बड़ी हुई हूं। भले आजकल बहुत लिबरल्स आ गए हैं लेकिन मेरी सोच है कि महिलावाद में अपने मियां का ख्याल रखूं और उसे इज्जत दूं और जो हो सके करूं।'

PunjabKesari

 

इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर #OurhusbandisourCulture ट्रेंड हो रहा है।  एक यूजर ने लिखा- जब भारत की पुरुष और महिला हॉकी टीम टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल पहुंची है तो पाकिस्तान में 'हमारा कल्चर क्या है, हमारा मियां है' ट्रेंड कर रहा है।  

PunjabKesari

एक अन्य यूजर ने लिखा कि मीयां है या बच्चा? 

 

PunjabKesari

रीमा के इस वीडियो पर एक यूजर ने कमेंट किया-'ऐसी संस्कृति, जिसमें पति का ख्याल पत्नी नन्हे बच्चे की तरह रखती है।' वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा कि पुरुष नौकरानी चाहते हैं या पत्नी?

PunjabKesari


शोहर ने कही ये बात 

वहीं दूसरी तरफ इस मामले में शहरोज ने कहा-'महिलाएं जो कर सकती हैं, वो पुरुष भी नहीं कर सकते।  दोनों को अपनी जगह समझने की जरूरत है।  अल्लाह ने दोनों को अलग-अलग भूमिका दी है।  अगर ऐसा नहीं होता तो अल्लाह दोनों के अलग-अलग नहीं बनाता।  महिला और पुरुष अलग-अलग तरह से सोचते हैं। अगर दोनों एक दूसरे का आदर करेंगे तो यही समानता है।'


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma


Recommended News

static