Movie Review : ''मशीन''

Friday, March 17, 2017 4:01 PM

मुंबई: निर्देशक अब्बास-मस्तानने की नई फिल्म 'मशीन' आज रिलीज हो गई है। ये फिल्म अब्बास ने अपने बेटे मुस्तफा को लेकर बनाई है। हाल ही में उन्होंने कॉमेडियन कपिल शर्मा को लेकर एक कॉमेडी फिल्म भी बनाई थी।

फिल्म की कहानी हिमाचल प्रदेश के कॉलेज में पढ़ने वाली साराऔर रंच की है। दोनों की मुलाक़ात एक रोडसाइड स्टाइल में होती है। उसके बाद आंखें मिलती हैं, प्यार होता है, शादी होती है। हालांकि अब्बास मस्तान की फिल्मों में जो कुछ भी होता है वो सस्पेंस से भरपूर होता है और आगे कहानी में रोनित रॉय और दलीप ताहिल की एंट्री होती है। कुछ खून खराबे तो कुछ मिस्ट्री वाली वारदातों के साथ कहानी में कई मोड़ आते हैं और आखिर में रिजल्ट आता है, जिसे जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

फिल्म का डायरैक्शन और लोकेशन बेहतरीन हैं, सिनेमेटोग्राफी भी कमाल की है। 
फिल्म की कहानी काफी पुरानी है, जो 90 के दशक की फिल्मों की याद दिलाती हैं और ख़ास तौर पर अब्बास मस्तान की ही 'खिलाड़ी' और 'बाजीगर' जैसी फिल्मों का सीक्वेंस है। इतने अच्छे लोकेशन पर कहानी के ऊपर और काम किया जाता तो फिल्म और बेहतर लगती। 

बता दें कि डेब्यू कर रहे मुस्तफा का काम ठीक है लेकिन उन्हें आने वाले प्रोजेक्ट्स पाने के लिए खुद को और तैयार करना पड़ेगा। कियारा आडवाणी का काम सहज है और उनके एक्सप्रेशन देखने लायक हैं। वहीं रोनित रॉय, जॉनी लीवर, दलीप ताहिल और बाकी को-स्टार्स का काम भी अच्छा है। Movie Review : 'मशीन' की न कहानी में दम और ना ही सस्पेंस में फिल्म का म्यूजिक अच्छा है, खासतौर पर तू चीज बड़ी है मस्त-मस्त बढ़िया लगता है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !