Movie Review: ‘बाहुबली 2’

Friday, April 28, 2017 3:19 PM
Movie Review: ‘बाहुबली 2’

मुंबई: फिल्म ‘बाहुबली 2’ बॉक्स ऑफिस की सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक है। 'बाहुबली-2' बॉक्स ऑफिस पर आज रिलीज हो चुकी है। फिल्म की कहानी कटप्पा  और शिवुडु उर्फ महेंद्र बाहुबली के बीच संवाद के आदान प्रदान से होती है, जिसके दौरान फ्लैशबैक में स्टोरी जाती है। जब महारानी शिवगामी बाहुबली के राज्याभिषेक का एलान करती हैं। लेकिन उसके पहले बाहुबली और कटप्पा देश भ्रमण पर निकलते हैं। उसी दौरान बाहुबली की मुलाकात राजकुमारी देवसेना से होती है और परिस्थितियों के मुताबिक देवसेना और महाराज अमरेंद्र बाहुबली एक साथ महिष्मती आते हैं। लेकिन राज्याभिषेक से पहले ही सिंघासन पर नजर भल्लालदेव की रहती है। जिसके लिए वो कटप्पा की मदद से कुछ ऐसा करता है, जिससे अमरेंद्र बाहुबली की मृत्यु हो जाती है और राज्य पर भल्लालदेव का अधिकार हो जाता है और वो देवसेना को बंदी बना लेता है। अब जब महेंद्र बाहुबली को पूरी कहानी का पता चलता है तो वो अपने हिसाब से एक बार फिर से महिष्मती राज्य को भल्लालदेव से आजाद कराने के लिए प्रयास करता है और आखिरकार सत्य की ही जीत होती है।

फिल्म का डायरेक्शन, लोकेशंस और कैमरा वर्क कमाल का है, वैसे तो फिल्म का अधिकतर हिस्सा ग्रीन और ब्लू स्क्रीन पर शूट किया गया है। लेकिन वीएफएक्स जबरदस्त है जो देखने लायक है। खास तौर पर कहानी को सुनाने का ढंग राजामौली का कमाल का है। फिल्म की सबसे बड़ी खासियत है कि ये कहानी पहले पार्ट में ऐसी जगह पर छोड़ी गई थी, जिसके बाद लोगों के जहन में एक ही सवाल था की आखिरकार कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा? और जवाब का इंतजार लगभग 2 साल तक चला और फिल्म के दौरान ये जवाब और दिलचस्प दिखाई पड़ता है।
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !