Movie Review:‘शैफ’

Friday, October 6, 2017 11:16 AM
Movie Review:‘शैफ’

मुंबई: 6 अक्टूबर को सैफ अली खान की फिल्म ‘शैफ’ रिलीज हुई है। सैफ अली खान की ‘शेफ’ फूड, एम्बीशन और फैमिली को लेकर बुनी गई मॉडर्न फैमिली ड्रामा है, जिसमें एक प्यारी-सी कहानी है।इसमें एक महत्‍वकांक्षी शेफ है, अपने बेटे को प्यार करने वाला पिता है और एक सिंगल मदर है।


फिल्म में सैफ के अपोजिट पद्मप्रिया जानकीरमन अभिनय करती हुईं नजर आ रही हैं। फिल्म साल 2014 में आई अमेरिकी फिल्म शैफ की ऑफीशियल रिमेक है। वहीं इस फिल्म में स्वार कांबले सैफ अली खान के बेटे का किरदार निभाते हुए नजर आएंगे। फिल्म अपने आप में बहुत अलग है जिसके चलते लोग इस फिल्म को देखने के लिए सिनामघरों में जा रहे हैं। 

फिल्म उन प्रोफेशनल शैफ की जिंदगी और उनकी कहानी को दर्शाती है जो अपनी नौकरी छोड़ कर खुद का फूड स्टॉल या ट्रक लगा कर बिजनेस करने की शुरुआत करते हैं।

फिल्म में सैफ और स्वार के इर्द-गिर्द कहानी बुनी गई है। पिता पेशे से शैफ हैं। शैफ बने सैफ का फिल्म में बेटा है जो उनसे खफा रहता है। कारण- उसे लगता है कि उसके पिता उस पर न ध्यान देते हैं और न ही उससे प्यार करते हैं। वह अपने पिता के साथ वक्त बिताना चाहता है। लेकिन उसके पिता अपनी नौकरी के चलते अपने बेटे को समय नहीं दे पाते। बेटे की यह पिता से बहुत बड़ी शिकायत है। वहीं फिल्म में पद्मप्रिया हैं जो दोनों को करीब लाने की कोशिश करती है, सैफ को समझदारी भरी बातें बताती हैं और बेटे को समय देने के लिए कहती हैं। सैफ अपने काम के चलते परिवार को समय नहीं दे पा रहे इसलिए वह नौकरी छोड़ने का फैसला लेते हैं। इसके बाद वह खुद का फूड बिजनेस शुरू करने की सोचते हैं। इसमें उनका बेटा भी उनका साथ देता है। नौकरी छोड़ परिवार के पास आने के बाद सैफ अपनी फैमिली की मदद से एक फूड ड्रक में बिजनेस खोलते हैं।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !