सिर्फ खूबसूरती काफी नहीं: कैटरीना कैफ

Sunday, April 6, 2014 2:05 PM
सिर्फ खूबसूरती काफी नहीं: कैटरीना कैफ

मुंबई: ''बूम'' जैसी असफल फिल्म से अपने करियर की शुरूआत करने वाली कैटरीना कैफ को आज इंडस्ट्री में एक दशक से अधिक का समय हो चुका है। इस दौरान वह इंडस्ट्री की सबसे सफलतम हीरोइन बन चुकी है। हर निर्माता-निर्देशक की पहली पसंद बन चुकी और कई बार विश्व की सबसे खूबसूरत महिला का खिताब प्राप्त करने वाली कैटरीना की आने वाली फिल्मों में ‘बैंग बैंग’, ‘फैंटम’ तथा ‘जग्गा जासूस’ शामिल हैं। पेश हैं उनसे हुई एक बातचीत के अंश—

क्या आपने बचपन में कभी सोचा था कि फिल्मों में आएंगी?

— बिल्कुल नहीं। मैं काफी शर्मीली थी। दुबकी-सी रहती थी। लोगों से ज्यादा बात भी नहीं कर पाती थी। मां के साथ मेरी पहले की जितनी तस्वीरें हैं, उन्हें अब देखती हूं तो हंसती हूं।

पहली बार झिझक कब टूटी ?

 —मॉडलिंग शुरू करने से पहले मैंने भी दूसरी लड़कियों की तरह पोर्टफोलियो तैयार करवाया। मैं मशहूर फैशन फोटोग्राफर अतुल कस्बेकर से मिली। उन्होंने मॉडलिंग के दिनों में मेरी काफी मदद की। उस समय सिलैक्शन की जो प्रक्रिया होती थी, उससे मैं भी गुजरी। ऑडिशन देते-देते और रिजैक्शन झेलते-झेलते मैं तप कर कुंदन बनती चली गई।

करियर बनाने-संवारने में सलमान व अक्षय की मदद और मार्गदर्शन को कैसे बयां करना चाहेंगी?

— मेरे 10 साल से अधिक के सफर में कइयों ने मेरा साथ दिया, मगर सलमान और अक्षय का नाम मैं जरूर लेना चाहूंगी। स्वाभाविक तौर पर सलमान मेरे बहुत अच्छे मित्र, मार्गदर्शक हैं। मुझे एक अभिनेत्री और बेहतर इंसान के तौर पर ग्रो करने में उनका अहम योगदान है। वह मेहनतकश इंसानों की बहुत इज्जत करते हैं। सलमान ने मुझसे सालों पहले कहा था कि एक दिन तुम टॉप पर आओगी। अक्षय ने मुझे प्रोफैशनली बहुत सपोर्ट किया।

पर अब तक मेहनत से ज्यादा आपकी खूबसूरती की ही चर्चा होती है। क्या कहना चाहेंगी?

 —पीछे मुड़कर देखती हूं, तो कई पल याद आते हैं। कुछ अच्छे भी, कुछ बुरे भी। मैंने भी आम लड़कियों की तरह ही करियर शुरू किया था। मैंने अपने सफर में कुछ ऐसे किरदार निभाए, जो दिल के करीब रहे। हां, कुछ बातों का दुख है कि लोग काम से ज्यादा आपकी पर्सनल जिंदगी में झांकते हैं। ‘जिंदगी न मिलेगी दोबारा’ में जैसी जोया हैं, रियल लाइफ में वैसी हूं। फिल्मों में मेरे काम से फिल्मकारों को अहसास हुआ कि मुझमें अदाकारी की भी क्षमता है। कहने का मतलब फिल्म इंडस्ट्री में सिर्फ खूबसूरती के दम पर काम मिलता तो आज ढेर सारी खूबसूरत अभिनेत्रियों का करियर ढलान पर नहीं होता।

 ‘बैंग बैंग’ और कबीर खान की अगली फिल्म में भी आप जो स्टंट करने जा रही हैं उनकी कैसे तैयारी कर रही हैं? —मैं इन दिनों एक स्पैशल डाइट पर हूं। मेरी रैगुलर ट्रेनर यास्मीन कराचीवाला ने इसका ध्यान रखा है। साथ ही लंदन की रेजा कतानी की भी सेवाएं ले रही हूं। मैंने दोनों फिल्मों में कुछ कठिन सीन फिल्माए हैं। अपने लचीलेपन और जिमनास्टिक ट्रेनिंग पर काफी समय दे रही हूं। रोजाना 10 घंटे वर्कआऊट कर रही हूं। मुझे खुशी इस बात की है कि हमारी फिल्मों में हीरोइनों को सिर्फ हीरो के साथ पेड़ों के इर्द-गिर्द ही नहीं घुमाया जाता, उनसे एक्शन भी कराया जा रहा है। मुझमें, विद्या, प्रियंका, कंगना सबमें एक्शन भूमिकाएं जीवंत करने की अपार संभावनाएं हैं।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !